News Nation Logo
Banner

नक्सली हमले पर कांग्रेस ने फिर शुरू की राजनीति, गृहमंत्री अमित शाह पर बोला हमला

सुरजेवाला ये भूल गए कि ये हमला छत्तीसगढ़ में हुआ है, जहां उनकी सरकार है. और हमले वाले दिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद भी चुनावी प्रचार में व्यस्त थे.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 05 Apr 2021, 02:14:58 PM
Randeep Singh Surjewala

Randeep Singh Surjewala (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • नक्सली हमले वाले दिन चुनाव प्रचार में व्यस्त थे CM बघेल
  • असम में पार्टी के प्रत्याशियों के लिए कर रहे थे प्रचार
  • भूपेश बघेल ने ट्वीट कर दी थी चुनावी कार्यक्रमों की जानकारी

नई दिल्ली:

छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले में देश ने 23 बहादुर जवानों को खो दिया. पूरा देश जवानों की याद में आंसू बहा रहा है, लेकिन कांग्रेस इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है. कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस मामले में मोदी सरकार पर हमला किया है. सुरजेवाला ने पीएम मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर हमला करते हुए ट्विटर पर लिखा कि दुखद है कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री चुनाव प्रचार में इतने व्यस्त हैं कि उन्हें नक्सलवाद की बुराई से निपटने की फुर्सत नहीं है. बस टीवी पर घोषणाएं करना काफी नहीं हैं. हमें निर्णायक रणनीति एवं ब्लूप्रिंट सामने रखने की जरूरत है'.

कांग्रेस प्रवक्ता ने बड़ी सफाई के साथ प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृहमंत्री को इस घटना के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया. सुरजेवाला ने इस घटना पर अमित शाह पर हमला करते हुए कहा कि जब से अमित शाह गृहमंत्री बने हैं 5213 नक्सली घटना हो चुकी है 1416 पैरामिलिट्री के जवान शहीद हो चुके हैं. 3 अप्रैल दिन में 11बजे ये घटना हुई, देश के गृह मंत्री में 24 घंटे तक कोई रिस्पॉश नहीं किया. जब हमारे जवान नक्सालिए से लोहा ले रहे थे तो हमारे गृह मंत्री तमिलनाडु में एक एक्ट्रेस के साथ रोड शो कर रहे थे. उसके बाद वे तमिलनाडु से केरल गए और उसके बाद असम गए वहां रैली की. 4 को इलेक्शन रैली कर रहे थे. 

ये भी पढ़ें- अमित शाह का बड़ा बयान, बोले- नक्सलियों के खात्मे के लिए तेज होगा ऑपरेशन

उन्होंने आगे कहा कि देश का गृह मंत्री क्या अपने कर्तव्य के प्रति इतना लापरवाह हो सकता है. नक्सलवाद से निपटना गृह मंत्री की जिम्मेवारी होती है. हमारे सैनिक जान लगाकर लड़ते हैं. लेकिन उनका मुखिया गृह मंत्री तमिलनाडु में एक्ट्रेस के साथ रोड शो कर रहे थे. सुरजेवाला ने कहा कि ये  गृह मंत्री 24 घंटे तक जलसे करता रहा. क्या ऐसे व्यक्ति को गृह मंत्री बने रहने का अधिकार है?

सुरजेवाला ने इस हमले को लेकर मोदी सरकार पर जमकर भड़ास निकाली, लेकिन इस दौरान वे अपने गिरेबान में छांकना भूल गए. सुरजेवाला ये भूल गए कि ये हमला छत्तीसगढ़ में हुआ है, जहां उनकी सरकार है. और हमले वाले दिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद भी चुनावी प्रचार में व्यस्त थे. जिस वक्त जवानों पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया था, उस वक्त मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम चुनाव के तीसरे चरण के चुनाव प्रचार में व्यस्त थे. उन्होंने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी. 

ये भी पढ़ें- अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली के आरोपों की CBI जांच होगी, बॉम्बे हाई कोर्ट का फैसला

3 अप्रैल को भुपेश बघेल ने एक के बाद एक कई ट्वीट करके अपने चुनावी अभियान की जानकारी दी थी. 3 अप्रैल को छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने एक ट्वीट किया था जिसमें लिखा था कि 'असम की दिसपुर विधानसभा में आज माननीय मुख्यमंत्री भुपेश बघेल कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में रोड शो कर जनसमर्थन जुटाया.' मुख्यमंत्री बघेल ने भी इस ट्वीट को रीट्वीट किया था. इसके अलावा हमले वाले दिन भूपेश बघेल ने असम की चेंगा, बरपेटा एवं अभयापुर उत्तर विधानसभा सीट पर जनसभाओं को भी संबोधित किया था.

अपने इन चुनावी कार्यक्रमों की जानकारी उन्होंने उस वक्त ट्वीट की थी, जब उन्हें इस हमले की जानकारी मिल चुकी थी. भूपेश बघेल के ट्विटर अकाउंट को देखें तो इस बात का खुलासा हो जाएगा. नक्सली हमले में भूपेश बघेल को 5 जवानों के शहीद होने की जानकारी मिली थी. उन्होंने एक ट्वीट करके शहीद जवानों को श्रद्धांजलि भी दी थी, लेकिन इसके बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी के कई ट्वीट्स को रीट्वीट किया, जिनमें उन्होंने अपने चुनावी कार्यक्रमों की जानकारी दी थी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 05 Apr 2021, 01:40:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.