logo-image
लोकसभा चुनाव

राहुल गांधी होंगे लोकसभा में विपक्ष के नेता, INDIA गठबंधन की बैठक में फैसला

राहुल गांधी ने लोकसभा सभा में नेता विपक्ष के लिए अपने नाम का प्रस्ताव आने के बाद कांग्रेस कार्य समिति के सदस्यों से कुछ समय मांगा था.

Updated on: 26 Jun 2024, 05:33 AM

New Delhi:

Rahul Gandhi: लोकसभा चुनाव के बाद सदन में नेता प्रतिपक्ष को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर आज यानी मंगलवार को विराम लग गया. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के आवास पर इंडिया ब्लॉक की बैठक हुई. बैठक में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को सदन में नेता प्रतिपक्ष बनाने पर विचार किया गया. इसके साथ ही राहुल गांधी को नेता विपक्ष बनाने के लिए प्रोटेम स्पीकर को चिट्ठी भी लिखी गई. कांग्रेस के सीनियर लीडर केसी वेणुगोपाल ने जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार शाम को मल्लिकार्जुन खड़गे के घर आवास पर विपक्षी दलों के गठबंधन इंडिया की बैठक हुई. इस बैठक में राहुल गांधी को सदन में नेता प्रतिपक्ष बनाने पर सहमति बनी, जिसके लिए प्रोटेम स्पीकर को पत्र लिखा गया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सर्वसम्मति से राहुल गांधी को सदन में नेता प्रतिपक्ष बनाने की मांग उठी थी. बैठक में कांग्रेस कार्य समिति के मेंबर्स ने राहुल गांधी को नेता प्रतिपक्ष बनाने के लिए प्रस्ताव भी पारित किया है. हालांकि राहुल गांधी ने लोकसभा सभा में नेता विपक्ष के लिए अपने नाम का प्रस्ताव आने के बाद कांग्रेस कार्य समिति के सदस्यों से कुछ समय मांगा था.

भारतीय लोकतंत्र के हिसाब से नेता प्रतिपक्ष बहुत ही महत्वपूर्ण और शक्तिशाली पद होता है. नेता प्रतिपक्ष के पास कैबिनेट मंत्री का दर्जा होता है. विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी की बात करें तो विपक्षी दल के नेता को सरकार के किसी भी निर्णय की प्रक्रिया में सक्रिय रूप से भाग लेने का अधिकार होता है. विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी सत्ता दल के नेता से अलग होती है. किसी भी सरकार में विपक्ष की जो मुख्य भूमिका निभानी होती है, वह प्रभावी आलोचना की भूमिका होती है. सरकार को सुचारू कामकाज में विपक्ष की भूमिका अहम होती है