News Nation Logo
Banner

चिदंबरम के आर्टिकल 370 के बयान पर बोले प्रकाश जावड़ेकर- क्या घोषणा पत्र में करेंगे इसका उल्लेख?

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) द्वारा जम्मू-कश्मीर में फिर से आर्टिकल 370 बहास करने की वकालत के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने हमला बोला है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 17 Oct 2020, 11:42:21 PM
prakash javedkar

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) द्वारा जम्मू-कश्मीर में फिर से आर्टिकल 370 बहास करने की वकालत के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने हमला बोला है. उन्होंने पूछा कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस  क्या अपने घोषणापत्र में इसका उल्लेख कर सकती है? कांग्रेस जानती है कि देश के लोगों ने धारा 370 के हनन के फैसले का स्वागत किया था, इसलिए वो केवल ऐसा बोल सकती है, करके नहीं दिखा सकती है.

कांग्रेस के दिग्गज नेता चिदंबरम के बहाने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राहुल गांधी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी अपने भाषण में पाकिस्तान की तारीफ करते हैं, चाहे विषय कोई भी हो. राहुल गांधी हमेशा ही चीन और पाकिस्तान की प्रशंसा करते हैं. यह दृष्टिकोण कांग्रेस पार्टी का है.

जानें क्या बोले थे पी चिदंबरम 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे की बहाली के लिए वहां के मुख्य राजनीतिक दलों के गठबंधन बनाने का समर्थन करते हुए शुक्रवार को कहा था कि केंद्र सरकार को अनुच्छेद 370 के विशेष प्रावधान हटाने संबंधी फैसलों को निरस्त करना चाहिए. 

पूर्व गृह मंत्री ने ट्वीट किया कि जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख के लोगों के अधिकारों की बहाली के लिए संवैधानिक लड़ाई लड़ने के मकसद से वहां के मुख्यधारा के क्षेत्रीय दलों का साथ आना एक ऐसा घटनाक्रम है जिसका भारत के सभी लोगों को स्वागत करना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को इन मुख्यधारा की पार्टियों और जम्मू-कश्मीर के लोगों को पृथकतावादी और देश विरोधी होने की नजर से देखना बंद करना चाहिए.

उन्होंने कहा था कि कांग्रेस दर्जे और जम्मू-कश्मीर के लोगों के अधिकारों की बहाली के लिए संकल्पबद्ध खड़ी है. सरकार को पांच अगस्त, 2019 को लिए गए मनमाने और असंवैधानिक फैसलों को निरस्त करना चाहिए.  गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में मुख्य धारा के राजनीतिक दलों ने बृहस्पतिवार को एक बैठक की और पूर्ववर्ती राज्य के विशेष दर्जे की बहाली के लिए एक गठबंधन बनाया.

यह गठबंधन इस मुद्दे पर सभी संबंधित पक्षों से वार्ता भी शुरू करेगा. नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के आवास पर बैठक हुई और इसमें पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती, पीपल्स कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन, पीपल्स मूवमेंट के नेता जावेद मीर और माकपा नेता मोहम्मद युसूफ तारिगामी ने भी हिस्सा लिया था.

First Published : 17 Oct 2020, 05:18:45 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो