News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने रामभक्तों को बताया राक्षस, बीजेपी हुई हमलावर

राशिद अल्वी ने जय श्री राम का नारा लगाने वालों की तुलना रामायण के कालनेमि राक्षस से की है. उन्होंने कहा है कि रामराज्य और जय श्री राम का नारा लगाने वाले मुनि नहीं, बल्कि रामायण काल के कालनेमि राक्षस हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 12 Nov 2021, 12:45:07 PM
rashid alvi

राशिद अल्वी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के बाद अब राशिद अल्वी ने भी हिंदुओं को लेकर निशाना साधा है. राशिद अल्वी ने जय श्री राम का नारा लगाने वालों की तुलना रामायण के कालनेमि राक्षस से की है. उन्होंने कहा है कि रामराज्य और जय श्री राम का नारा लगाने वाले मुनि नहीं, बल्कि रामायण काल के कालनेमि राक्षस हैं. अल्वी के इस बयान के बाद बीजेपी हमलावर हो गई है. राशिद अल्वी उत्तर प्रदेश के जनपद संभल में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे थे. यहां उन्होंने कहा कि 'हम भी चाहते हैं इस देश में रामराज्य होना चाहिए, लेकिन जिस राज्य में बकरी और शेर एक घाट पर पानी पीते हो वहां नफरत कैसे हो सकती है.' राशिद अल्वी का निशाना बीजेपी की ओर था.

राशिद अल्वी ने कहा कि इस देश में जय श्री राम का नारा लगाकर लोगों को जो लोग गुमराह करते हैं, ऐसे लोगों से सावधान रहना चाहिए. राशिद अल्वी ने इशारों इशारों में बीजेपी पर निशाना साधते हुए जय श्री राम का नारा लगाने बालों की तुलना रामायण के कालनेमि राक्षस से करते हुए कहा कि जब लक्ष्मण मूर्छित होकर गिरे थे तो वैध के कहने पर हनुमान जी हिमालय से संजीवनी बूटी लेने गए थे. 

अल्वी ने कहा कि उस समय राक्षस नीचे बैठकर जय श्री राम का नारा लगा रहा था. जय श्री राम का नारा सुनकर हनुमान जी नीचे उतर आए थे. राक्षस ने हनुमान जी का कीमती वक्त खराब करने के लिए जय श्री राम का नारा लगाने से पहले स्नान करने भेज दिया था. तभी अप्सरा ने हनुमान जी को बताया था कि तुम्हें स्नान करने के लिए भेजने वाला कोई मुनि नहीं है बल्कि घोर राक्षस है. इसलिए सभी को समझना चाहिए कि जय श्री राम का नारा लगाने वाले कोई मुनि नहीं है बल्कि वह राक्षस है जिन से हमें होशियार रहना है.

अमित मालवीय ने राशिद अल्वी के बयान का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, "सलमान खुर्शीद के बाद अब कांग्रेस के नेता राशिद अल्वी जय श्री राम कहने वालों को निशाचर (राक्षस) बता रहे हैं. राम भक्तों के प्रति कांग्रेस के विचारों में कितना जहर घुला हुआ है."

बयान पर दी सफाई
मामले के तूल पकड़ने के बाद राशिद अल्वी ने अपने बयान पर सफाई दी है. उन्होंने कहा कि मैंने अपने भाषण में कहा था कि जय श्रीराम बोलने वाला हर आदमी मुनि नहीं होता है. देश में सही मायने में रामराज्य आना चाहिए. हालांकि बीजेपी इस बयान को लेकर लगातार हमलावर है. कांग्रेस नेता के इस बयान के बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है. बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस नेताओं में कितना जहर भरा है इसका अंदाजा इसी बयान से लगाया जा सकता है. 

सलमान खुर्शीद की किताब को लेकर भी हुआ विवाद 
इससे पहले कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या' का विमोचन कर एक नया सियासी विवाद खड़ा कर दिया है. किताब में अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सही ठहराया गया है, मगर हिंदुत्ववादियों की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों के 'जिहादी इस्लाम वाली सोच' से की गई है. इस किताब के विमोचन के मौके पर बुधवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम भी मौजूद रहे.  

First Published : 12 Nov 2021, 11:48:36 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.