News Nation Logo
Banner

राज्यसभा में कांग्रेस ने गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा बहाल करने की मांग की

उन्होंने कहा कि सरकार को इस संबंध में अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए और उसे दलगत भावना से उठकर काम करना चाहिए.

By : Ravindra Singh | Updated on: 20 Nov 2019, 03:33:36 PM
कांग्रेस नेता आनंद शर्मा

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

राज्यसभा में बुधवार को कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष तथा सांसद राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने का मुद्दा उठाया. हालांकि सत्तारूढ़ भाजपा ने कहा कि यह फैसला गृह मंत्रालय का है और इसमें कोई राजनीति नहीं है. पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाया और कहा कि नेताओं की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है. उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या का जिक्र करते हुए कहा कि खतरों को देखते हुए चारों नेताओं की एसपीजी सुरक्षा बहाल की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि सरकार को इस संबंध में अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए और उसे दलगत भावना से उठकर काम करना चाहिए.

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि ऐसे फैसले गृह मंत्रालय की एक विशेष समिति खतरों की आशंका पर गौर करते हुए करती है. उन्होंने कहा कि लोगों को लिट्टे से खतरा था लेकिन अब लिट्टे समाप्त हो गया है. स्वामी ने कहा कि इसके अलावा जिनकी सुरक्षा की बात की जा रही है, उन्होंने खुद ही राजीव गांधी के हत्यारों की सजा कम किए जाने की अपील की और जेल में जाकर मुलाकात तक की. हालांकि सभापति एम वेंकैया नायडू ने स्वामी को टोकते हुए राजीव गांधी के हत्यारों से जुड़े मुद्दे को इस विषय में नहीं उठाने को कहा. भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि इस फैसले में कोई राजनीति नहीं है और उनकी सुरक्षा वापस नहीं ली गयी है. नड्डा ने कहा कि गृह मंत्रालय में एक तय प्रक्रिया और प्रोटोकॉल है और उसी के तहत फैसला किया जाता है. 

यह भी पढ़ें-किफायती स्वास्थ्य सुविधाओं तक आसान पहुंच जरूरी : डॉ. हर्षवर्धन

आनंद शर्मा ने राज्यसभा में की SPG सुरक्षा बहाल करने की मांग
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने राज्यसभा में बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा बहाल करने की मांग की. उच्च सदन में यह मुद्दा उठाते हुए शर्मा ने कहा कि दलगत राजनीति से परे हट कर, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा बहाल की जानी चाहिए. कांग्रेस संसद के दोनों सदनों में यह मुद्दा उठाती रही है.

यह भी पढ़ें-हरियाणा सरकार करवाना चाहती है राम रहीम-हनीप्रीत की मुलाकात, जानिए क्या है वजह

कार्यकर्ताओं ने जलाए मोदी-शाह के पुतले
गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा बहाल करने की मांग को लेकर युवा कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ता दिल्ली में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन के कारण संसद के ठीक बगल में स्थित शास्त्री भवन के पास बुधवार को अफरा-तफरी की स्थिति पैदा हो गई. प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के पुतले भी जलाए और बैरिकेड्स तोड़कर वे आगे बढ़ गए, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया.

क्या है SPG सुरक्षा ?

  • पीएम मोदी और गांधी परिवार की सुरक्षा करती है
  • देश की सबसे पेशेवर और आधुनिक सुरक्षा बल है
  • जवानों का चयन पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स से होता है
  • जवान FNF-2000 असॉल्ट राइफल से लैस होते हैं
  • जवानों के पास ग्लोक-17 पिस्टल भी होती है
  • जवानों को सीक्रेट सर्विस एजेंट्स की तरह ही ट्रेनिंग दी जाती है
  • SPG के काफिले में एक दर्जन गाड़ियां होती हैं
  • इंदिरा गांधी की हत्या के बाद SPG के गठन की प्रक्रिया शुरू हुई

 (Input- भाषा)

First Published : 20 Nov 2019, 03:33:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो