News Nation Logo
Banner

पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार की मुलाकात से कांग्रेस नाराज, कहा- ये Wrong Time है, क्योंकि...

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों को आए एक महीना होने वाला है, लेकिन अभी तक सरकार बनाने को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाई है.

By : Deepak Pandey | Updated on: 20 Nov 2019, 04:06:56 PM
पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार

पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों को आए एक महीना होने वाला है, लेकिन अभी तक सरकार बनाने को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाई है. इसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया है. वहीं, दूसरी तरफ एनसीपी-कांग्रेस के बीच लगातार बैठकों का दौर भी जारी है. इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इन दोनों की मुलाकात से कांग्रेस नाखुश है. पार्टी सूत्रों का कहना है कि शरद पवार की पीएम मोदी से मुलाकात का ये 'wrong time' है.

यह भी पढ़ेंः तीसरी से पांचवी लाइन में क्‍यों की गई मेरे बैठने की व्‍यवस्‍था, संजय राउत ने वेंकैया नायडू को लिखा पत्र

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के अनुसार, महाराष्ट्र में दिसंबर के पहले हफ्ते तक गैर भाजपा सरकार बनने की संभावना है. अगर शिवसेना कोई सांप्रदायिक एजेंडा अपनाएगी तो कांग्रेस सरकार से बाहर हो जाएगी. सूत्रों का कहना है कि शरद पवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से गलत टाइम में मुलाकात की है. ये सही समय नहीं है, क्योंकि जब महाराष्ट्र में कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना मिलकर बनाने की ओर कदम बढ़ा रही है तो ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी कि शरद पवार को पीएम मोदी मिलना पड़ा. 

बता दें कि एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इसके बाद पीएम मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक की. ऐसे में अब महाराष्ट्र के सियासी माहौल को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं. बताया जा रहा है कि शरद पवार ने किसानों को मुद्दे को लेकर पीएम मोदी से मुलाकात की थी, लेकिन जानकारों कहना है कि महाराष्ट्र की सत्ता को लेकर यहां अलग ही खिचड़ी पक रही है. कुछ लोगों का तो यह भी कहना है कि बीजेपी शरद पवार को राष्ट्रपति का पद ऑफर कर सकती है. 

यह भी पढ़ेंः राज्यसभा में कांग्रेस ने गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा बहाल करने की मांग की

बताया जा रहा है कि मुलाकात के दौरान शरद पवार ने एक पत्र भी सौंपा है, जिसमें बेमौसम बारिश की वजह से किसानों को झेलनी पड़ रही परेशानी के बारे में बताया गया है. इस पत्र में शरद पवार ने लिखा है कि, मैंने 2 जिलों से फसल की क्षति का डेटा इकट्ठा किया है, लेकिन अत्यधिक बारिश की वजह से नुकसान महाराष्ट्र के शेष हिस्सों तक फैला हुआ है, जिसमें मराठवाड़ा और विदर्भ शामिल हैं. मैं उसी के बारे में विवरण और जानकारी एकत्र कर रहा हूं, जिसे आपको जल्द से जल्द भेजा जाना चाहिए.

First Published : 20 Nov 2019, 03:49:04 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो