News Nation Logo

कांग्रेस सांसद ने ऑस्ट्रेलिया में दिवाली की छुट्टी, छात्रों की फीस में रियायत मांगी

कांग्रेस सांसद ने ऑस्ट्रेलिया में दिवाली की छुट्टी, छात्रों की फीस में रियायत मांगी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 14 Oct 2021, 08:25:01 PM
Cong legal

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल को पत्र लिखकर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए 4 नवंबर को दिवाली के लिए वैकल्पिक अवकाश घोषित करने की मांग की।

उन्होंने अपने पत्र में कहा, यदि ऑस्ट्रेलिया की सरकार भारतीय मूल के लोगों के लिए 4 नवंबर को दिवाली का वैकल्पिक अवकाश घोषित करे तो यह दोनों देशों के बीच मजबूत संबंधों का एक बड़ा संकेत होगा। खुशी और उत्सव मनाने का दिन है।

कांग्रेस सांसद ने बाद में ट्वीट किया और कहा, यह विचार किया जाए कि क्या भारतीय मूल के लोगों और भारतीयों के लिए 4 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया में वैकल्पिक अवकाश के रूप में घोषित किया जा सकता है? यह लाखों लोगों को प्रसन्न करेगा।

उन्होंने पत्र में भारतीय/विदेशी छात्रों को आकर्षित करने के लिए शिक्षा लागत और फीस को कम करने का भी अनुरोध किया, क्योंकि छात्रों के दाखिले में 80 प्रतिशत की गिरावट आई है। उन्होंने लिखा, मेरा सुझाव है कि यदि स्थानीय लोगों से वसूले जाने वाले शुल्क की तुलना में बहुत उच्च स्तर पर शुल्क कम किया जाए, तो विश्वविद्यालयों/संस्थानों को जो कोविड के बाद के युग में नुकसान उठाना पड़ रहा है, उन्हें अत्यधिक लाभ होगा। यह एक प्रोत्साहन के रूप में कार्य करेगा, क्योंकि यात्रा फिर से शुरू हो गई है।

उन्होंने मुंबई और ऑस्ट्रेलिया के अलावा दिल्ली और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीधी उड़ान शुरू करने का आग्रह किया, क्योंकि दिल्ली से ऑस्ट्रेलिया के लिए सीधी उड़ान कभी नहीं थी। उभरते हुए क्वाड शासन में दोस्ती के बंधन और मजबूत होंगे।

विवेक तन्खा ने बाद में ट्वीट किया, आज महानवमी पर भारत में ऑस्ट्रेलियाई उच्च न्यायालय के महामहिम बैरी ओ फैरेल एओ और उनके राजनीतिक सचिव जैक टेलर की अगवानी करने का सौभाग्य मिला। एक गहन बातचीत के बाद मैंने उच्चायुक्त के समक्ष भारत-ऑस्ट्रेलियाई संबंधों को मजबूत करने के लिए तीन अनुरोध किए।

रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया के प्रवासी भारतीयों की संख्या लगभग 700,000 है और यह अंग्रेजों के बाद दूसरा सबसे अधिक कर देने वाला प्रवासी है, जिससे यह स्पष्ट होता है कि यह ऑस्ट्रेलिया की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देने वाला समूह है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 14 Oct 2021, 08:25:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो