News Nation Logo
Banner
Banner

उड़ानों से हटी पाबंदी, 18 अक्टूबर से हवाई उड़ानों का ले सकेंगे आनंद

अब पूरी क्षमता के साथ विमान उड़ेंगे, जो 18 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगा. कोरोना की वजह से 23 मार्च 2020 से शेड्यूल्ड अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगाई गई थी.

Sayyed Aamir Husain | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 12 Oct 2021, 07:35:03 PM
CIVIL AVIATION

नागर विमानन मंत्रालय (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • कोरोना महामारी के कारण भारत ही नहीं दुनिया भर में विमान कंपिनयों ने उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया था
  • अब पूरी क्षमता के साथ विमान उड़ेंगे, जो 18 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगा
  • कोरोना की वजह से 23 मार्च 2020 से शेड्यूल्ड अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगाई गई थी

नई दिल्ली:

नागर विमानन मंत्रालय ने 18 अक्टूबर से अनुसूचित घरेलू हवाई संचालन को बिना किसी क्षमता प्रतिबंध के बहाल करने की अनुमति दी है. कोरोना मामलों में आई गिरावट के बाद सरकार ने ये फैसला किया है. अब नागर विमानन मंत्रालय ने उड़ानों पर कैपेसिटी कैप्स (Capacity caps)हटाने का फैसला किया है. मसलन अब पूरी क्षमता के साथ विमान उड़ेंगे, जो 18 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगा. बता दें कि कोरोना की वजह से 23 मार्च 2020 से शेड्यूल्ड अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगाई गई थी,लेकिन मई 2020 से वंदे भारत मिशन के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन हो रहा है. इसके अलावा चुनिंदा देशों के साथ ‘द्विपक्षीय ‘एयर बबल' व्यवस्था के तहत जुलाई, 2020 से उड़ानों का परिचालन हो रहा है.

कोरोना महामारी के कारण भारत ही नहीं दुनिया भर में विमान कंपिनयों ने उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया था. घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को सीमित कर दिया गया था. लेकिन जैसे-जैसे कोरोना के मामलों में कमी आती गयी, उड़ानों पर से भी प्रतिबंध हटता गया.

यह भी पढ़ें: देश में कितने दिन का बचा है कोयला स्टॉक? जानिए केंद्रीय मंत्री का जवाब

पिछले साल 25 मई को निर्धारित घरेलू उड़ानों को फिर से शुरू किया था. उस वक्त मंत्रालय ने विमानन कंपनियों को कोविड-19 पूर्व की अपनी घरेलू सेवाओं के 33 प्रतिशत से अधिक के संचालन की अनुमति नहीं दी थी. दिसंबर तक धीरे-धीरे इसे बढ़ाकर 80 प्रतिशत कर दिया गया. एक जून तक यह सीमा 80 प्रतिशत तक बनी रही. मंत्रालय ने कहा था कि देश भर में कोविड-19 के मामलों में अचानक वृद्धि, यात्रियों की संख्या में कमी के मद्देनजर 28 मई को एक जून से अधिकतम सीमा को 80 से 50 प्रतिशत तक लाने का निर्णय किया गया था.  

First Published : 12 Oct 2021, 05:11:07 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो