News Nation Logo
Banner

FCRA के उल्लंघन के मामले में CBI ने एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप पर बेंगलुरु में मारा छापा

oreign Contribution Regulation Act (FCRA) विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम के उल्लंघन के मामले में टीम छापेमारी कर रही है.

By : Sushil Kumar | Updated on: 15 Nov 2019, 06:56:44 PM
एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप

एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप (Photo Credit: ANI)

बेंगलुरु:

एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप (Amensty International Group) पर CBI ने बेंगलुरु (Bengaluru) में छापा मारा. oreign Contribution Regulation Act (FCRA) विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम के उल्लंघन के मामले में टीम छापेमारी (Raid) कर रही है. एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप पर नियमों का उल्लंघन करते हुए विदेशी फंडिंग (Foreign Funding) हासिल करने का आरोप है. एमनेस्टी इंटरनेशनल एक गैर सरकारी संगठन (Non Government Organisation) है जो मानवाधिकार के लिए काम करता है. 

यह भी पढ़ें- कश्मीर में हालात हो रहे सामान्य, हिरासत से नेताओं को रिहाई की समय सीमा नहीं :गृह मंत्रालय

वहीं दूसरी तरफ एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. बता दें कि बीते साल एमनेस्टी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने भी जांच की थी. मानवाधिकार संगठन पर विदेशी चंदा नियमन के उल्लंघन के आरोपों को लेकर ईडी ने भी जांच की थी. सीबीआई के छापे के बाद एमनेस्टी इंटरनेशनल ने प्रेस नोट जारी की है. जिसमें उन्होंने बताया कि सीबीआई की टीम ने शुक्रवार को इमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप के ऑफिस बेंगलुरु में छापेमारी की है. प्रेस नोट में सफाई देते हुए कहा कि पिछले कुछ सालों से उत्पीड़न का एक नया पैटर्न इमर्ज किया गया है. एमनेस्टी इंटरनेशनल हर वक्त मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ बोलता है और स्टैंड लेता है. एमनेस्टी हमेशा से भारत और अंतराराष्ट्रीय नियमों का पूरी तरह से पालन करता है. यह कार्रवाई उत्पीड़न के लिए गया है. 

First Published : 15 Nov 2019, 05:37:17 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.