News Nation Logo

TRP में कथित हेरफेर की शिकायत की जांच CBI ने अपने हाथों में ली

सीबीआई ने उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुमोदन के आधार पर टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट्स (TRP) में कथित तौर पर हेरफेर किए जाने को लेकर प्राथमिकी दर्ज की है.

Bhasha | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 20 Oct 2020, 10:17:04 PM
trp

TRP (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:

सीबीआई ने उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुमोदन के आधार पर टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट्स (TRP) में कथित तौर पर हेरफेर किए जाने को लेकर प्राथमिकी दर्ज की है. यह जानकारी मंगलवार को अधिकारियों ने दी. उन्होंने कहा कि मामला पहले लखनऊ के हजरतगंज थाने में एक विज्ञापन कंपनी के प्रवर्तक की शिकायत पर दर्ज किया गया था, जिसे उत्तरप्रदेश सरकार ने सीबीआई को सौंप दिया.

उन्होंने कहा कि त्वरित कार्रवाई करते हुए सीबीआई ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है. अधिकारियों ने बताया कि मुख्य आरोप धन लेकर टीआरपी रेटिंग में हेरफेर किए जाने का मामला है. सीबीआई अधिकारियों ने विस्तृत ब्यौरा देने से इंकार कर दिया. किसी चैनल या कार्यक्रम की टीआरपी का इस्तेमाल विज्ञापन एजेंसियां उनकी लोकप्रियता मापने में करती हैं जिससे विज्ञापन की कीमत प्रभावित होती है.

भारत में ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) 45 हजार से अधिक घरों में एक उपकरण लगाकर प्वाइंट की गिनती करता है. इस उपकरण को ‘बार ओ मीटर’ कहा जाता है. यह उपकरण इन घरों के सदस्यों द्वारा किसी कार्यक्रम या चैनल के देखे जाने का आंकड़ा एकत्रित करता है, जिसके आधार पर बार्क साप्ताहिक रेटिंग जारी करता है.

मुंबई पुलिस ने हाल में टीआरपी में हेरफेर किए जाने का एक मामला दर्ज किया था जिसके बाद बार्क ने अस्थायी रूप से रेटिंग का काम स्थगित कर दिया है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 20 Oct 2020, 10:17:04 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Cbi Trp TRP Scam Case

वीडियो