News Nation Logo
Banner

INX Media Case में पी चिदंबरम को CBI कोर्ट से झटका, अब तिहाड़ में कटेंगी रातें

INX Media Case : चिदंबरम को CBI कोर्ट से झटका, अब तिहाड़ में कटेंगी रातें

By : Ravindra Singh | Updated on: 05 Sep 2019, 06:07:58 PM
पी चिदंबरम (फाइल)

highlights

  • सीबीआई कोर्ट ने दिया पी चिदंबरम को झटका
  • चिदंबरम को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा
  • अब अगले 14 दिन तिहाड़ जेल में रहेंगे चिदंबरम

नई दिल्ली:

गुरुवार को INX Media Case में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. सीबीआई कोर्ट ने अपना उन्हें 19 सितंबर तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.  इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने ईडी की कस्टडी में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया. इसके साथ ही अब पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को तिहाड़ जेल ले जाया जाएगा. हालांकि पी. चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने इसका विरोध किया. कपिल सिब्बल ने अदालत में कहा कि सीबीआई को बताना होगा कि पी. चिदंबरम को न्यायिक हिरासत में भेजना क्यों जरूरी है?

यह भी पढ़ें-राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम मोदी ने शिक्षक दिवस पर एस. राधाकृष्णन को श्रद्धांजलि दी

गुरुवार को आईएनएक्स मीडिया मामले में सुनवाई करते हुए दिल्ली की कोर्ट ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. कोर्ट के आदेश के बाद चिदंबरम को तिहाड़ सेन्ट्रल जेल भेजा जाएगा. INX Media Case में स्पेशल जज अजय कुमार कुहाड़ ने चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल की उन दलीलों को खारिज कर दिया जिसमें वो डिमांड कर रहे थे कि उनके मुवक्किल को न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए. 2 दिन की सीबीआई कस्टडी खत्म होने के बाद एजेंसी ने चिदंबरम को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया. इस दौरान सीबीआई ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजने की मांग की, जबकि चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने इसका विरोध किया.

यह भी पढ़ें- PM मोदी के संसदीय क्षेत्र में बिजली विभाग ने स्कूल को भेजा 618.5 करोड़ का बिल

चिदंबरम नहीं जाना चाहते थे तिहाड़ जेल 
सीबीआई ने पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया था, जहां चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने अदालत से कहा था कि उनके मुवक्किल ईडी के सामने सरेंडर करने के लिए तैयार हैं और उनके मुवक्किल को न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए. चिदंबरम की पैरवी करते हुए उनके वकील सिब्बल ने कोर्ट से कहा, 'जहां तक सीबीआई की बात है तो पी. चिदंबरम न्यायिक हिरासत में क्यों भेजा जाना चाहिए? सीबीआई सभी सवाल पूछ लिए हैं. चिदंबरम ईडी की कस्टडी में जाना चाहते हैं उन्हें न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए.' बता दें कि अगर कोर्ट ने चिदंबरम को न्यायिक हिरासत में भेजा तो उन्हें तिहाड़ सेंट्रल जेल भेजा जाएगा.

यह भी पढ़ें- पी चिदंबरम जाएंगे जेल या मिलेगी बेल! सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा अहम फैसला

First Published : 05 Sep 2019, 05:46:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.