News Nation Logo

कश्मीर के किश्तवाड़ जेल की जासूसी कर रहा था ड्रोन, बंद हैं कई दुर्दांत आतंकी; सुरक्षा की गई सख्त

अति संवेदनशील किश्तवाड़ जेल में मंगलवार देर शाम कैमरा युक्त ड्रोन मिलने से अफरा-तफरी का माहौल है. इस जेल में कई दुर्दांत आतंकवादी बंद हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 03 Jul 2019, 03:40:27 PM
यही कैमरा युक्त ड्रोन मिला किश्तवाड़ जेल से.

highlights

  • किश्तवाड़ जेल के वॉच टॉवर से टकरा कर गिरा कैमरा युक्त ड्रोन.
  • जेल में बंद हैं कई खूंखार पाकिस्तान समर्थक आतंकवादी.
  • जेल की सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर जांच-पड़ताल शुरू.

नई दिल्ली.:  

एक तरफ केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में स्थितियां सामान्य बनाने के लिए प्रयासरत है. दूसरी तरफ देश के दुश्मन पाक सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से स्थितियां बिगाड़ने पर आमादा हैं. ऐसी ही एक घटना में अति संवेदनशील किश्तवाड़ जेल में मंगलवार देर शाम कैमरा युक्त ड्रोन मिलने से अफरा-तफरी का माहौल है. इस जेल में कई दुर्दांत आतंकवादी बंद हैं. ऐसे में कैमरा युक्त ड्रोन मिलना जेल की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा माना जा रहा है. जेल पुलिस समेत खुफिया एजेंसियां ड्रोन की बरामदगी के बाद जांच-पड़ताल में जुट गई हैं. प्रारंभिक पड़ताल में ड्रोन चीन का बना हुआ है.

यह भी पढ़ेंः मोस्‍ट वांटेड दाऊद इब्राहिम के बारे में अमेरिका से आई सबसे बड़ी जानकारी, पढ़ें पूरी खबर

खुफिया एजेंसी भी सक्रिय
प्राप्त प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक कैमरा युक्त ड्रोन किश्तवाड़ जेल के ऊपर मंडरा रहा था. अचानक कम ऊंचाई पर उड़ते हुए वह जेल के ही वॉच टॉवर से टकरा कर जमीन आ गिरा. कैमरा युक्त ड्रोन देख जेल प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए और उन्होंने तुरंत ही आला अधिकारियों को इस घटना से अवगत कराया. पुलिस ने ड्रोन को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है. अति संवेदनशील जेल होने और कई कुख्यात आतंकियों के यहां रख जाने से खुफिया एजेंसी भी अपनी तरफ से जांच कर रही हैं. बताते हैं कि किश्तवाड़ जेल में कुल 101 कैदी हैं, जिनमें से 25 आतंकी हैं. इनमें चार कश्मीरी और शेष डोडा और किश्तवाड़ से पकड़े गए आतंकी हैं.

यह भी पढ़ेंः गृह मंत्री अमित शाह ने मंदिर में तोड़फोड़ के मामले में दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर को तलब किया

पाक आतंकी जेल में बंद स्थानीय लोगों को रहे हैं बरगला
खासकर पुलवामा आतंकी हमले के बाद से ही राज्य प्रशासन राज्य की विभिन्न जेलों में बंद पाकिस्तानी आतंकियों को दिल्ली की तिहाड़ या पंजाब-हरियाणा की अति सुरक्षित जेल में स्थानांतरित करने के प्रयास में है. जम्मू जेल प्रशासन ने इस बाबत बकायदा केंद्र को एक पत्र भी लिखा था. इसमें कहा गया था कि पाकिस्तानी आतंकी जेल में बंद स्थानीय लोगों को बरगला कर आतंकी बनने को प्रोत्साहित कर रहे हैं.

First Published : 03 Jul 2019, 02:22:21 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.