News Nation Logo
Banner

दिल्ली दंगा: अमित शाह ने मृतक हेड कांस्टेबल की पत्नी को लिखा पत्र, कही ये बात

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने दिल्ली दंगा में शहीद हुए हेड कांस्टेबल की पत्नी को पत्र लिखा है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 25 Feb 2020, 07:22:54 PM
गृह मंत्री अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ जारी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है. मौजपुर (Mauzpur) और ब्रह्मपुरी (Brahmpuri) समेत कई इलाकों में तीसरे दिन मंगलवार को भी पत्थरबाजी (Stone Pelting) और तोड़फोड़ जारी है. इस पर दिल्ली पुलिस ने जाफराबाद, चांद बाग, करावल नगर और मौजपुर में कर्फ्यू लगा दिया है. इस बीच गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने दिल्ली दंगा में शहीद हुए हेड कांस्टेबल की पत्नी को पत्र लिखा है. 

यह भी पढे़ंःDelhi Riots: दिल्ली दंगे के पीछे की क्या है क्रोनोलॉजी, यहां जानें सिर्फ 15 Points में

उत्तर पूर्व दिल्ली के जाफराबाद में सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर हुई हिंसा में हेड कांस्टेबल रतन लाल शहीद हो गए थे. इस पर गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की पत्नी को एक पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र में लिखा कि मैं आपके पति की असामयिक मृत्यु पर दुख और गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि दिल्ली पुलिस को कर्फ्यू (Curfew) लगाना पड़ा है. जाफराबाद , मौजपुर, चांदबाग और करावल नगर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. इससे पहले इन इलाकों में धारा 144 लागू किया गया था. इसके बावजूद दंगाई मान नहीं रहे थे.

अब तक 10 लोगों की हो चुकी है मौत

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार से जारी हिंसा में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है. नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में भड़की हिंसा पर दिल्ली पुलिस पीआरओ एमएस रंधावा ने बताया कि नॉर्थ ईस्ट जिले में कुछ हिंसा की घटनाएं घटित हुई जिसकी वजह से वहां पुलिस तैनात की गई. हिंसा में हेड कांस्टेबल रतन लाल को जान गंवानी पड़ी और डीसीपी शाहदरा को सिर में चोट लगी. साथ ही 56 पुलिसकर्मी और 130 नागरिक घायल हैं.

यह भी पढे़ंः डोनाल्ड ट्रंप बोले- भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की जरूरत पड़ेगी तो जरूर करेंगे, लेकिन मोदी इसके...

दंगाइयों को रोकने के लिए सुरक्षाबल की कमी है इस सवाल पर रंधावा ने कहा, 'मैं इस बात से इनकार करता हूं कि पुलिस बल की कोई कमी है. पूर्वोत्तर जिले में पर्याप्त बल तैनात किए गए हैं. सीआरपीएफ, आरएएफ और दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त संसाधन भी सक्रिय हैं. 11 एफआईआर दर्ज की गई हैं और कुछ को हिरासत में लिया गया है.

अमित शाह ने दिल्ली दंगा को लेकर की बैठक

बता दें कि इससे पहले अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) के भारत दौरे के बीच भड़की दिल्‍ली हिंसा को लेकर मोदी सरकार के गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने हाईलेवल बैठक बुलाई थी. बैठक में उपराज्‍यपाल अनिल बैजल और मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए थे. इससे पहले संवेदनशील इलाकों में भारी संख्‍या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है. नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शनिवार देर शाम जाफराबाद में महिलाएं इकट्ठा हो गई थीं और उसके बाद रविवार को हिंसा भड़क उठी थी. अब तक इस हिंसा में 10 लोगों की मौत हो गई है, जिसमें दिल्‍ली पुलिस का एक कांस्‍टेबल रतन भी शामिल है. वे गोकुलपुरी में तैनात थे.

First Published : 25 Feb 2020, 06:47:03 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×