News Nation Logo
Banner

शाहीन बाग से बैरंग लौटे बुलजोडर ने मंगोलपुरी और न्यू फ्रेंडस कॉलोनी में की कार्रवाई 

जहांगीरपुरी में अवैध निर्माण पर चला बुलडोजर मंगलवार को मंगोलपुरी और न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी तक जा पहुंचा है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 10 May 2022, 01:55:30 PM
buldozer

Demolition in Mangolpuri (Photo Credit: ani)

highlights

  • इस अभियान को रोकने की कोशिश में हिरासत में ले लिया गया है
  • आप के विधायक को इस अभियान को रोकने की कोशिश में हिरासत में ले लिया गया 

नई दिल्ली:  

जहांगीरपुरी में अवैध निर्माण पर चला बुलडोजर मंगलवार को मंगोलपुरी और न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी तक जा पहुंचा है. इस कार्रवाई को लेकर नगर निगमों ने पहले से ही पूरी तैयारी की थी. दोनों जगहों पर स्थानीय लोगों के विरोध को काबू करने के लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, शाहीन बाग के बाद मंगलवार को उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा दिल्ली के मंगोलपुरी में अतिक्रमण ​विरोधी अभियान चलाया गया है. इस दौरान भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच यह अभियान चलाया गया. कार्रवाई की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक मुकेश अहलावत को इस अभियान को रोकने की कोशिश में हिरासत में ले लिया गया है.  

विधायक मुकेश अहलावत के अनुसार, जब लोगों ने क्षेत्र को खाली कर दिया है, तो नॉर्थ एमसीडी उन्हें घेरकर बुलडोजर का उपयोग कर असुविधा पैदा कर रही है. हम इसके खिलाफ हैं और इसे रोकना जरूरी है. उन्हें पहले यह सबूत लाने होंगे कि वहां पर आतिक्रमण है. इस पर पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया.

डीसीपी समीर शर्मा के अनुसार, यहां पर अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई हुई है. स्थानीय विधायक MLA मुकेश अहलावत भी मौजूद थे, जिन्हें समझाया गया है और हमने उन्हें कुछ समय के लिए हिरासत में लिया गया है ताकि कार्रवाई में किसी तरह की कोई बाधा सामने न आए. गौरतलब है कि एसडीएमसी दक्षिण दिल्ली के कई भागों में 4 मई से 13 मई तक अतिक्रमण अभियान का पहला चरण चला रही है. इसे देखकर सुरक्षा व्यवस्था के खास इंतजाम किए गए हैं.  

शाहीन बाग से लौटा बुलडोजर 

इससे पहले शाहीन बाग में सोमवार को अतिक्रमण रोधी अभियान को अंजाम देने के लिए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) के बुलडोजर के पहुंचते ही महिलाओं समेत सैंकड़ों स्थानीय लोगों ने विरोध-प्रदर्शन आरंभ कर दिया गया था. प्रदर्शनकारियों ने भाजपा शासित एसडीएमसी और केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कार्रवाई रोकने की मांग की. कुछ महिलाएं बुलडोजर के सामने आ गईंं. इस और आप और कांग्रेस नेता भी कार्रवाई के विरोध में सड़क पर बैठ गए थे. विरोध प्रदर्शन की वजह से  अवैध निर्माणों और अतिक्रमणों को नहीं हटाया गया. निगम ने बुलडोजर को वापस ले लिया.

First Published : 10 May 2022, 01:48:47 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.