News Nation Logo
एकनाथ शिंदे ने आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए दोपहर 2 बजे गुवाहाटी के होटल में बैठक बुलाई भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 17,073 नए मामले सामने आए दिल्ली हाईकोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा को आज LG दिलाएंगे शपथ महाराष्ट्र: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुलाई कैबिनेट बैठक, 2.30 बजे होगी मीटिंग असम : एकनाथ शिंदे गुवाहाटी स्थित कामाख्या मंदिर पहुंचे भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 14,506 नए मामले सामने आए महाराष्ट्र: कल होगा फ्लोर टेस्ट, राज्यपाल ने बुलाया विधानसभा का विशेष सत्र असम बाढ़ के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 लाख रुपए दान करेंगे एकनाथ शिंदे बीजेपी के 164 विधायकों का दावा- देवेंद्र फडणवीस कल देर रात सीएम पद का शपथ ले सकते हैं बीजेपी के कोर ग्रुप के सदस्यों और विधायकों की बैठक देवेंद्र फडणवीस के घर शुरू

तेलंगाना में बढ़ेगा बस किराया

तेलंगाना में बढ़ेगा बस किराया

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 01 Dec 2021, 07:35:01 PM
Bu fare

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

हैदराबाद:   तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी) ने बस किराए में बढ़ोतरी के लिए राज्य सरकार को एक प्रस्ताव सौंपा है।

राज्य के स्वामित्व वाले परिवहन ऑपरेटर ने पल्ले वेलुगु (ग्रामीण) सेवाओं सहित सामान्य सेवा के लिए 25 पैसे प्रति किमी और शहर की सेवाओं सहित एक्सप्रेस और उच्च सेवाओं के लिए 30 पैसे प्रति किमी की बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा है।

परिवहन मंत्री पी. अजय कुमार ने बुधवार को टीएसआरटीसी के चेयरमैन बाजीरेड्डी गोवर्धन, प्रबंध निदेशक वी.सी. सजन्नार और अन्य अधिकारी के साथ बैठक की।

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर रेड्डी प्रस्ताव पर अंतिम फैसला लेंगे।

मंत्री ने बैठक के बाद कहा कि टीएसआरटीसी को लगातार हो रहे नुकसान को देखते हुए बस किराए में बढ़ोतरी अनिवार्य थी।

उन्होंने कहा कि टीएसआरटीसी के राजस्व और खर्च के बीच का अंतर पिछले तीन वर्षों के दौरान काफी बढ़ा है। इस अवधि के दौरान परिवहन इकाई को 4,260 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

परिवहन मंत्री ने प्रस्तावित बढ़ोतरी का बचाव करते हुए कहा कि बढ़ते नुकसान को देखते हुए कोई दूसरा विकल्प नहीं है।

2018-19 के दौरान, टीएसआरटीसी का राजस्व 4,882 करोड़ रुपये था, जबकि खर्च 5,811 रुपये था। 2019-20 के दौरान 5,594 करोड़ रुपये के कुल व्यय के मुकाबले राजस्व 4,592 करोड़ रुपये था।

2020-21 में, परिवहन संगठन को 2,329 रुपये का नुकसान हुआ, क्योंकि उन्होंने 4,784 करोड़ रुपये के कुल खर्च के मुकाबले केवल 2,455 करोड़ रुपये कमाए।

अगर सरकार किराया बढ़ाने के टीएसआरटीसी के प्रस्ताव को स्वीकार कर लेती है, तो उसे अतिरिक्त 850 करोड़ रुपये की कमाई की उम्मीद है।

बाजीरेड्डी गोवर्धन ने कहा कि डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से टीएसआरटीसी पर बोझ है। केंद्र सरकार द्वारा अपनाई गई नीतियों के कारण टीएसआरटीसी को किराए में वृद्धि करनी पड़ी। उन्होंने लोगों से यह समझने की अपील की कि संगठन के पास और कोई विकल्प नहीं है।

टीएसआरटीसी ने पहले किराया 40 पैसे प्रति किलोमीटर बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन पिछले महीने उत्पाद शुल्क में कटौती के केंद्र के कदम के बाद डीजल और पेट्रोल की कीमतों में गिरावट के बाद प्रस्ताव में संशोधन किया।

अक्टूबर में मुख्यमंत्री के साथ बैठक के दौरान अधिकारियों ने उन्हें बताया था कि पिछले डेढ़ साल में डीजल की कीमत में 22 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है, जिससे टीएसआरटीसी पर 550 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ा है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 01 Dec 2021, 07:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.