News Nation Logo
Banner

शक्ति परीक्षण से पहले BS येदियुरप्पा का बयान, हम बहुमत साबित करने के लिए पूरी तरह तैयार

कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत से एक दिन पहले रविवार को मुख्मयंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बहुमत साबित करने का विश्वास जताया.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 29 Jul 2019, 06:05:23 AM
कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो)

कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत से एक दिन पहले रविवार को मुख्मयंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बहुमत साबित करने का विश्वास जताया. उन्होंने यह भी कहा कि पिछली कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार द्वारा तैयार किए वित्त विधेयक को भी बिना किसी परिवर्तन के वह सोमवार को सदन में पेश करेंगे. येदियुरप्पा ने कहा, सोमवार को सौ फीसदी मैं बहुमत साबित कर दूंगा.

यह भी पढ़ेंः पूर्व PM HD देवगौड़ा ने कर्नाटक में JDS-कांग्रेस गठबंधन पर ये दिया संकेत, कही ये बड़ी बात 

सीएम मुख्मयंत्री बीएस येदियुरप्पा, वित्त विधेयक (विनियोग विधेयक) को तत्काल पारित कराने की जरूरत है अन्यथा हम तनख्वाह भी देने के लिए धन नहीं ले पाएंगे. उन्होंने कहा, इसलिए कल बहुमत साबित करने के बाद हम सबसे पहले इस वित्त विधेयक को हाथ में लेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा, मैंने उसमें कॉमा या फुल स्टॉप तक नहीं बदला है. मैं पिछली कांग्रेस जदएस सरकार द्वारा तैयार इस विधेयक को पेश करूंगा.

शुक्रवार को मुख्यमंत्री का पदभार संभालने वाले येदियुरप्पा ने कहा था कि वह सोमवार को विश्वास मत हासिल करेंगे. कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष रमेश कुमार ने रविवार को दल-बदल कानून के तहत कांग्रेस-जद(एस) के 14 और विधायकों को सदन की सदस्यता के लिए अयोग्य ठहराया था, जिसके साथ ही अयोग्य ठहराये गये विधायकों की संख्या अब 17 हो गयी है. इसका सोमवार को येदियुरप्पा सरकार के विश्वास मत पर कोई सीधा असर नहीं पड़ेगा.

यह भी पढ़ेंः आठ अगस्त को भारत रत्न से सम्मानित किए जाएंगे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, इन लोगों को भी मिलेंगे ये पुरस्कार

अध्यक्ष को छोड़कर 224 सदस्यीय विधानसभा में अब संख्या बल 207 रह गया है. मत-विभाजन की स्थिति में सत्ता पक्ष और विपक्ष को बराबर वोट मिलने पर अध्यक्ष वोट करते हैं. बहुमत के लिए जादुई आंकड़ा 104 है. भाजपा के पास एक निर्दलीय के समर्थन के साथ ही 106 सदस्य हैं. कांग्रेस के 66 (नामित समेत) जद(एस) के पास 34, बसपा के एक विधायक हैं.

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय डेविस कप टीम की घोषणा 5 अगस्त तक

बसपा ने कुमारस्वामी सरकार के पक्ष में वोट नहीं करने पर अपने विधायक को निष्कासित कर दिया था. 14 माह पुरानी कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार विश्वास मत खोने के बाद मंगलवार को गिर गई थी.

First Published : 28 Jul 2019, 09:20:18 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो