News Nation Logo
ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल को महंगा किया राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम बढ़कर 106.89 रुपये प्रति लीटर हुआ युद्ध जारी रहते कवच नहीं उतारते यानी मास्क को सहज स्वभाव बनाएंः पीएम मोदी हरियाणा के बहादुरगढ़ में दो कारों में भीषण भिड़ंत, 8 लोग मरे आर्यन और अनन्या की गांजे को लेकर चैट आई सामने, अनन्या का जवाब - मैं अरेंज कर दूंगी राष्ट्रपति कोविन्द अपनी तीन दिवसीय बिहार यात्रा के अंतिम दिन गुरुद्वारा पटना साहिब, महावीर मंदिर गए आर्यन खान की चैट के आधार पर एनसीबी आज फिर करेगी अनन्या पांडे से पूछताछ पुंछ में आतंकियों पर सुरक्षा बलों का घेरा कसा. आज या कल खत्म कर दिए जाएंगे आतंकी दूत जम्मू-कश्मीर दौरे से पहले गृह मंत्री अमित शाह की आईबी-एनआईए संग हाई लेवल बैठक आज आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, 35 पैसे प्रति लीटर का हुआ इजाफा

भाजपा एमसीडी चुनाव में अनुच्छेद 370 हटाने, राम मंदिर, ट्रिपल तलाक मुद्दों को बेचेगी

भाजपा एमसीडी चुनाव में अनुच्छेद 370 हटाने, राम मंदिर, ट्रिपल तलाक मुद्दों को बेचेगी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 25 Sep 2021, 11:25:01 PM
BJP to

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनावों में साल 2017 की अपनी जीत को दोहराने की योजना बनाई है। पार्टी 11,000 बैठकों में अनुच्छेद 370 हटाए जाने, राम मंदिर निर्माण की शुरुआत और तीन तलाक कानून को खत्म करने जैसी उपलब्धियों की बिक्री करेगी।

राष्ट्रीय राजधानी में अगले साल होने वाले नगर निगम चुनावों की तैयारी करते हुए भाजपा ने शनिवार को पूरे दिल्ली में विभिन्न वर्गो के लोगों को लक्षित करने के लिए 500 सामुदायिक नेताओं के साथ 11,000 बैठकें करने की अपनी योजना शुरू की। इन बैठकों में मोदी सरकार द्वारा लिए गए निर्णय, जिन्हें समर्थकों द्वारा ऐतिहासिक माना जाता था, चर्चा के शीर्ष बिंदु होंगे।

पूर्वाचल, उत्तराखंड, उत्तर-पूर्व, दक्षिण भारत के लोग और उनमें से युवा पार्टी के मुख्य लक्ष्य होंगे।

भाजपा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, दिल्ली में कुल 11,000 बैठकें होंगी, जिसके लिए राजधानी में विभिन्न समुदायों के 500 लोगों को पार्टी ने प्रशिक्षित किया है। हमें इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए एक महीने का समय दिया गया है, लेकिन यह आसानी से इससे आगे निकल सकता है।

दिल्ली के तीन नगर निगमों (एमसीडी) के चुनाव, जहां भाजपा 2007 से नहीं हारी है, अगले साल अप्रैल में चुनाव होंगे।

इस महीने की शुरुआत में, दिल्ली भाजपा के महासचिव हर्ष मल्होत्रा ने आईएएनएस को बताया था कि इन समूहों के लगभग 25 से 50 प्रमुख लोगों के छोटे समूहों में बैठकें होंगी।

लोगों की संख्या को सीमित करने के पीछे महामारी को कारण बताया गया।

भाजपा ने शहर के 8,000 से अधिक मतदान केंद्रों पर समितियां बनाने के साथ ही बड़े पैमाने पर विधानसभाओं की तैयारी हफ्तों पहले शुरू कर दी थी। शहर के 13,789 बूथों में से 8,000 से अधिक बूथों पर 21 सदस्यीय समितियों का गठन किया गया था।

इसके अलावा, लगभग एक पखवाड़े पहले, दिल्ली भाजपा प्रमुख आदेश गुप्ता सहित भाजपा राज्य इकाई के 14 प्रमुख नेताओं ने जनता की प्रतिक्रिया जानने के लिए शहर के विभिन्न हिस्सों में लोगों के साथ एक रात बिताई थी।

सूत्र ने कहा, इन मुलाकातों के पीछे हमारा मुख्य एजेंडा संबंधित समुदायों को मोदी सरकार द्वारा उनके लाभ के लिए शुरू की गई योजनाओं और केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार द्वारा किए गए वादों के बारे में सूचित करना है।

पार्टी ने व्यापक प्रभाव के लिए समुदायों को उनके पेशे, क्षेत्र और धर्म के आधार पर लक्षित किया है।

सूत्र ने कहा, उदाहरण के लिए, व्यापारियों, निवासी कल्याण संघों (आरडब्ल्यूए) जैसे समूहों की अलग-अलग बैठकें होंगी, जहां वे विशेष रूप से अपने समुदायों के लिए शुरू की गई मोदी सरकार की योजनाओं पर चर्चा करेंगे। इसी तरह, पूर्वाचल समुदाय की एक बैठक में लोगों को राम मंदिर और पूर्वाचल एक्सप्रेसवे परियोजना के बारे में बताया जाएगा।

पार्टी के पदाधिकारी ने कहा, हम एमसीडी चुनाव से पहले बीजेपी के लिए प्रचार करने के अलावा इस तरह से नया नेतृत्व भी तैयार कर रहे हैं इन 500 नेताओं को इन बैठकों के लिए प्रशिक्षित किया गया है और भविष्य के लिए भी युद्ध के लिए तैयार रखा जाएगा। अधिकारी ने कहा कि पार्टी-उपाध्यक्ष या महासचिव के भाषण का उतना प्रभाव नहीं होगा जितना कि किसी के अपने समूह के किसी व्यक्ति पर।

भाजपा जो लगातार तीन बार से एमसीडी की सत्ता है, सत्ता विरोधी लहर के बोझ तले दबी है और उसे इस बार आम आदमी पार्टी (आप) की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है।

2017 के नगरपालिका चुनावों के दौरान सत्ता विरोधी लहर को नकारने के लिए भाजपा ने अपने सभी मौजूदा पार्षदों को टिकट देने से इनकार कर दिया था।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 25 Sep 2021, 11:25:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.