News Nation Logo
Banner

...आखिर ऐसा क्या बोल गए राहुल गांधी? बीजेपी ने रख दी माफी की मांग

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस को लेकर दिए गए विवादित बयान पर बीजेपी नेता संबित पात्रा ने पलटवार किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 15 Sep 2021, 06:10:20 PM
sambit patra

sambit patra (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • राहुल गांधी के बीजेपी और आरएसएस को लेकर दिया विवादित बयान
  • बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा कि राजनीति में भगवान को लाना गलत
  • कांग्रेस की विचारधारा बीजेपी और आरएसएस से अलग है

नई दिल्ली:  

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस को लेकर दिए गए विवादित बयान पर बीजेपी नेता संबित पात्रा ने पलटवार किया है. संबित पात्रा ने कहा कि राजनीति में भगवान को लाना गलत है. इसके साथ ही देवी-देवताओं के अपमान पर राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए. बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस को हिंदू धर्म से वैमनस्य है और सबको बता दें कि धर्म के नाम पर दलाली कौन करता है. आपको बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने अपने बयान में कहा था कि वो अपने आप को हिन्दू पार्टी कहते हैं और पूरे देश में लक्ष्मी और दुर्गा पर आक्रमण करते हैं. जहां ये जाते हैं, कहीं लक्ष्मी को मारते हैं, कहीं दुर्गा को मारते हैं. ​ये हिन्दू धर्म का प्रयोग करते हैं, ये धर्म की दलाली करते हैं. मगर ये हिन्दू नहीं हैं. उन्होंने कहा कि जब आप (महात्मा) गांधी की तस्वीर देखेंगे, तो आपको उनके आसपास 2-3 महिलाएं दिखाई देंगी. क्या आपने किसी महिला के साथ मोहन भागवत की तस्वीर देखी है? ऐसा इसलिए है क्योंकि उनका संगठन महिलाओं को दबाता है और हमारा संगठन उन्हें एक मंच देता है. मोदी-आरएसएस ने किसी महिला को देश का पीएम नहीं बनाया.

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र ATS का खुलासा: मुंबई धारावी के आतंकी का डी-कंपनी से लिंक

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को राजधानी दिल्ली में भाजपा पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा बीजेपी और आरएसएस से अलग है. एक कांग्रेस कार्यकर्ता के रूप में, मैं अन्य विचारधाराओं के साथ समझौता कर सकता हूं लेकिन भाजपा और आरएसएस की विचारधारा के साथ नहीं। यह हमारे लिए एक बड़ा सवाल है कि गांधी, कांग्रेस, गोडसे और सावरकर की विचारधाराओं में क्या अंतर है. राहुल गांधी ने कहा​ कि मैं बाकी विचारधारों के साथ कोई न कोई समझौता कर सकता हूं, मगर मैं आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा के साथ कभी समझौता नहीं कर सकता.

यह भी पढ़ें : आतंकियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा, 9 अगस्त को अमृतसर में ड्रोन से गिराए थे हथियार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगे कहा कि अगर महात्मा गांधी ने अपना पूरा जीवन हिंदू धर्म को समझने के लिए दे दिया तो गोडसे ने उन्हें क्यों मारा. यह एक विरोधाभास है और आपको इसके बारे में सोचना होगा. उन्होंने बीजेपी-आरएसएस के लोग कहते हैं कि वे हिंदू पार्टी हैं. पिछले 100-200 वर्षों में, महात्मा गांधी वह व्यक्ति हैं जिन्होंने हिंदू धर्म को समझा और उसका पालन किया. हम इसे पहचानते हैं और बीजेपी और आरएसएस के लोग भी.

First Published : 15 Sep 2021, 05:49:33 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.