News Nation Logo
विश्व प्रसिद्ध जगन्नाथ रथयात्रा की थोड़ी देर में शुरुआत, पढ़ें-15 रोचक तथ्यRead More » Manipur Landslide: 14 लोगों की मौत की पुष्टि, 23 बचाए गए; 60 अब भी लापताRead More » महाराष्ट्र: शनिवार को शिंदे सरकार का फ्लोर टेस्ट, असेंबली स्पीकर का भी होगा चुनावRead More » संजय राउत आज दोपहर 12 बजे ED के समक्ष पेश होने वाले हैं ढाई साल बाद पहली बार चीन से बाहर निकले शी जिनपिंग, हांगकांग पहुँचे जुमे की नमाज़ और उदयपुर की घटना को लेकर यूपी के कई शहरों में अलर्ट उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज रात 8:30 बजे दिल्ली आएंगे सीएम की शपथ से बाद देर रात एकनाथ शिंदे सीधे गोवा में होटल पहुंचे उदयपुर हत्याकांड के मद्देनजर उदयपुर के SP और IG उदयपुर रेंज को हटाया मुंबई के कई इलाकों में आज तेज बारिश को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट शिव सेना के सुनील प्रभु ने बागियों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई आयकर विभाग ने शरद पवार को 2004, 2009, 2014 और 2020 में दायर चुनावी हलफनामों के संबंध में नोटिस भेजा बीजेपी सांसद दिनेश लाल यादव निरहुआ ने अखिलेश यादव को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी महाराष्ट्र: पात्रा चावल भूमि घोटाला मामले में शिवसेना नेता संजय राउत मुंबई में ED कार्यालय पहुंचे

कोरोना के कोहराम के बीच बिहार पर आन पड़ी दोहरी मुसीबत

पिछले कई वर्षों से गर्मी प्रारंभ होते ही मुजफ्फरपुर, गया सहित राज्य के कई इलाकों में एईएस का प्रकोप प्रारंभ हो जाता है, जिसकी चपेट में आने वाले अधिकांश कम उम्र के बच्चे होते हैं. पिछले वर्ष इस बीमारी से करीब 150 बच्चों की मौत हो गई थी.

IANS | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 28 Mar 2020, 01:41:16 PM
bihar child

कोरोना के कोहराम के बीच बिहार पर आन पड़ी दोहरी मुसीबत (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर:  

एक ओर जहां पूरा देश कोरोना (Corona Virus) से जंग लड़ रहा है वहीं गर्मी प्रारंभ होते ही बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेलाइटिस (AES-एईएस) का भय सताने लगा है. इसी बीच मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसकेएमसीएच) में शुक्रवार को एईएस का एक मरीज भर्ती कराया गया है, जबकि शनिवार को एक और मरीज पहुंचा है. एसकेएमसीएच में शुक्रवार को भर्ती आदित्य कुमार (करीब चार साल) सकरा प्रखंड के बैजूबुजुर्ग गांव निवासी मुन्ना राम का पुत्र है. एसकेएमसीएच में उसे शुक्रवार दोपहर बाद पीआईसीयू में भर्ती किया गया है और उसका इलाज किया जा रहा है. डॉक्टरों ने उसे एईएस का मरीज बताया है.

शनिवार को भी पूर्वी चंपारण से एईएस का एक संदिग्ध मरीज पहुंचा है. एसकेएमसीएच के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ़ गोपाल शंकर सहनी ने शनिवार को बताया कि मरीज का इलाज चल रहा है तथा उसकी स्थिति स्थिर बनी हुई है. उन्होंने बताया कि मरीज में ग्लूकोज की कमी थी, जिसे दूर किया जा रहा है.

उल्लेखनीय है कि पिछले कई वर्षों से गर्मी प्रारंभ होते ही मुजफ्फरपुर, गया सहित राज्य के कई इलाकों में एईएस का प्रकोप प्रारंभ हो जाता है, जिसकी चपेट में आने वाले अधिकांश कम उम्र के बच्चे होते हैं. पिछले वर्ष इस बीमारी से करीब 150 बच्चों की मौत हो गई थी.

First Published : 28 Mar 2020, 01:41:16 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.