News Nation Logo

सीपीआई समेत कई दलों ने 27 को भारत-बंद का आह्वान किया

सीपीआई समेत कई दलों ने 27 को भारत-बंद का आह्वान किया

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 24 Sep 2021, 10:45:02 PM
Bihar CPI

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: सीपीआई ने आगामी 27 सितंबर को 15 राज्यों में भारत-बंद में शामिल होने का ऐलान किया है। कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल, झारखंड मुक्ति मोर्चा समेत कई अन्य दल भी इस बंद में शामिल होंगे।

सीपीआई ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के पक्ष में देशव्यापी बंद में शामिल होने का फैसला किया है।

सीपीआई महासचिव अतुल कुमार अंजान ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, 15 राज्यों में पूर्ण बंदी होगी। तीन कृषि कानूनों, सभी कृषि उत्पाद के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की कानूनी गारंटी, बिजली बिल 2020 की वापसी एवं 4 लेबर कोड रद्द करने की मांग को लेकर किसान संगठनों द्वारा आगामी 27 सितंबर को देशव्यापी भारत बंद के निर्णय पर सारे देश में जोरदार तैयारियां चल रही हैं।

अंजान ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों के कारण बढ़ती हुई महंगाई, बेरोजगारी, महिलाओं के साथ अपमानजनक घटनाएं, तालाबंदी, नोटबंदी, आर्थिक-संकट और विकास दर के गिरने के खिलाफ तथा मोदी सरकार की सांप्रदायिक नीतियों के विरुद्ध भारत बंद को मजदूरों, ट्रेड-यूनियनों, छात्र-युवा संगठनों, महिला-संगठनों एवं छोटे व्यापारियों, लेखकों, कलाकारों के संगठनों का भी व्यापक समर्थन मिल रहा है।

संयुक्त किसान मोर्चा और अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के साथ इस बंद के संबंध में कई राज्यों का दौरा करने के बाद अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय महासचिव अतुल कुमार अंजान ने शुक्रवार को ये बताया कि 15 राज्यों में बंद की पूरी तैयारी हो चुकी है।

अनजान ने जोर देकर कहा, तहसील से लेकर जिला, राज्य स्तर पर किसानों, ट्रेड यूनियनों, नौजवानों एवं अन्य सभी जन-संगठनों की बैठक संपन्न हो चुकी है। दक्षिण भारत के तमिलनाडु, पुडूचेरी, केरल, आंध्र-प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक सहित महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब हरियाणा, मध्य-प्रदेश, बिहार और झारखंड, पूर्वी राज्यों में उड़ीसा, असम, मणिपुर में पूर्णबंदी की संभावना है।

हालांकि स्वामीनाथन आयोग के सदस्य रहे अतुल अंजान ने कहा कि बंद के दौरान दूध, एंबुलेंस, डीजल, पेट्रोल, गैस के टैंकर, सेना, स्कूली-बच्चों के वाहन एवं रोगी बुजुर्गों को ले जा रहे यातायात के साधनों को बाधित नहीं किया जाएगा। ये बंद सुबह 6:00 से लेकर शाम 4:00 बजे तक रहेगा।

उन्होंने कहा कि इस बंद के संबंध में उन्होंने अन्य दलों के नेताओं से भी बात की है। कांग्रेस के उत्तर-प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और यूपी कांग्रेस के नेता प्रमोद तिवारी से भी बातचीत हुई है, जिन्होंने इस बंद में उनकी पार्टी के समर्थन करने का आश्वासन दिया है। इसके साथ ही उन्होंने केरल के वामपंथी लोकतांत्रिक मोर्चे के वरिष्ठ नेताओं, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से भी बंद को अपना नैतिक समर्थन देने को कहा है। बिहार में नेता विपक्ष तेजस्वी यादव, राजद प्रमुख जगदानंद सिंह एवं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव रामनरेश पांडे से बात करने के बाद उन्होंने भी कहा कि वामपंथी दलों कांग्रेस सहित गैर भाजपा दल बिहार में भी बंद को पूर्ण समर्थन देंगे।

अतुल अंजान ने उत्तर प्रदेश के 27 जिलों के सघन दौरे और किसान पंचायतों को संबोधित करने के बाद प्रदेश के लोगों से एवं व्यापारियों से भी बंद में समर्थन की अपील की।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 24 Sep 2021, 10:45:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो