News Nation Logo

उत्तराखंड में मरने वाले बिहार के लोगों के आश्रितों को सरकार देगी 2-2 लाख रुपये मुआवजा

उत्तराखंड में मरने वाले बिहार के लोगों के आश्रितों को सरकार देगी 2-2 लाख रुपये मुआवजा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 23 Oct 2021, 10:15:01 PM
Bihar CM

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

पटना: उत्तराखंड में अत्यधिक बारिश और भूस्खलन से अब तक बिहार के 10 लोगों की मौत हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर शोक जताते हुए मृतक के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से दो-दो लाख रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने पटना में शनिवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन में बिहार के कई लोगों की मौत की जानकारी मिली है। ये हमलोगों के लिए बहुत दुखद है। उन्होंने कहा कि इसे लेकर बिहार के अधिकारी उत्तराखंड के अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं।

उन्होंने कहा, भूस्खलन के शिकार तीन लोगों का शव पहले ही बिहार लाया जा चुका है और शनिवार को सात लोगों का पार्थिव शरीर बिहार लाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हादसे में शिकार सभी मजदूर पश्चिमी चंपारण जिले के रहने वाले थे। मृतकों के पार्थिव शरीर को उनके घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था सरकार के तरफ से की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड भूस्खलन में सभी मृतकों के निकटतम आश्रितों को विभिन्न विभागों द्वारा दी जा रही सहायता के अलावा मुख्यमंत्री राहत कोष प्रति परिवार दो लाख रुपये की मदद की जाएगी।

मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख की मदद को लेकर विपक्षी दलों की राजनीति को लेकर पत्रकारों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के अंदर और बाहर होनेवाले हादसे को लेकर अलग-अलग व्यवस्था है। दूसरे राज्यों में हादसा होने पर वहां की राज्य सरकारें मदद करती हैं। दूसरे राज्यों में हादसे का शिकार होने वाले बिहार के निवासियों को मुख्यमंत्री राहत कोष से दो लाख रुपये की मदद के अलावा भी कई विभागों द्वारा अन्य मदद पहुंचाई जाती है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 23 Oct 2021, 10:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.