News Nation Logo
Banner

संसद सत्र से पहले कांग्रेस अध्‍यक्ष पद को लेकर हो सकता है बड़ा फैसला

कल शुक्रवार को राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड जा रहे हैं और वहां वे दो दिन रहेंगे.

Ravikant | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 06 Jun 2019, 02:42:36 PM
कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

highlights

  • राहुल गांधी के इस्‍तीफे के चलते नहीं हो रहा संगठन में बदलाव
  • कई प्रदेशाध्‍यक्षों का होना है चुनाव, खुद राहुल का इस्‍तीफा है पेंडिंग
  • इस्‍तीफा वापस लेने के कांग्रेस नेताओं की राय से सहमत नहीं हैं राहुल

नई दिल्‍ली:  

कांग्रेस अध्‍यक्ष (Congress President) पद के लिए फैसला 9 जून तक के लिए टल गया है. कांग्रेस (Congress) के सूत्र बता रहे हैं कि कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी (RAhul Gandhi) अपने फैसले पर अब भी अडिग हैं और इस बारे में किसी से बात तक नहीं कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि पार्टी नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को मनाने की कोशिश में अब भी जुटे हुए हैं. कल शुक्रवार को राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड (Vaynad) जा रहे हैं और वहां वे दो दिन रहेंगे.

राहुल गांधी अभी किसी से मुलाकात भी नहीं कर रहे हैं और न ही किसी सार्वजिनक कार्यक्रम में उपस्‍थित हो रहे हैं. शपथ ग्रहण के पहले और बाद में उनके बारे में कोई खबर नहीं मिल रही है. राहुल गांधी जल्‍द से जल्‍द अध्‍यक्ष पद के लिए फैसला कराने को लेकर दबाव बनाए हुए हैं. कांग्रेस भी चाहती है कि जो फैसला होना है, हो जाए. पार्टी के सूत्र बता रहे हैं कि संसद के सत्र से पहले इसपर कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है. राहुल गांधी के इस्तीफे के कारण पार्टी में कोई भी संगठनात्‍मक बदलाव नहीं हो पा रहा है.

मध्यप्रदेश, छत्‍तीसगढ़ और राजस्‍थान में प्रदेशाध्‍यक्ष बदले जाने हैं. इनके अलावा कई प्रदेशों के अध्‍यक्षों, चुनाव अभियान समिति के अध्‍यक्षों ने लोकसभा चुनाव में हार की जिम्‍मेदारी लेते हुए इस्‍तीफे की पेशकश की है. उस पर भी असमंजस की स्‍थिति बनी हुई है.

बता दें कि लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने नैतिक जिम्‍मेदारी लेते हुए CWC की बैठक में इस्‍तीफा दे दिया था. हालांकि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी, पी चिदंबरम, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा आदि नेताओं ने उन्‍हें मनाने की कोशिश की पर वे अपने फैसले पर अडिग हैं. उन्‍होंने नए अध्‍यक्ष के चयन तक पद पर बने रहने की हामी भर ली है, लेकिन वे इस्‍तीफा वापस लेने की नेताओं की मांग से सहमत नहीं हैं.

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री के खिलाफ बयानबाजी करने वाले विधायक दिल्‍ली तलब
राजस्‍थान में कांग्रेस के विधायक पीआर मीणा को पार्टी आलाकमान ने दिल्‍ली तलब कर लिया है. वे टोडाभीम के विधायक हैं. ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के महासचिव संगठन वेणुगोपाल ने मीणा को तलब किया है. पीआर मीणा ने एक दिन पहले राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बयानबाजी की थी और डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट को मुख्‍यमंत्री बनाने की मांग की थी. लोकसभा चुनाव में हार के लिए मीणा ने अशोक गहलोत को जिम्‍मेदार भी बताया था.

First Published : 06 Jun 2019, 02:42:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.