News Nation Logo
Banner

'पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले अल्पमत में होगी ममता सरकार'

तृणमूल कांग्रेस में इस्तीफे की झड़ी लग जाने पर भाजपा ने दावा किया है कि 2021 का विधानसभा चुनाव आते-आते ममता बनर्जी सरकार अल्पमत में आ जाएगी.

By : Nihar Saxena | Updated on: 19 Dec 2020, 10:57:29 AM
Mamta Banerjee

ममता सरकार से इस्तीफों का दौर है जारी. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस में इस्तीफे की झड़ी लग जाने पर भाजपा ने दावा किया है कि 2021 का विधानसभा चुनाव आते-आते ममता बनर्जी सरकार अल्पमत में आ जाएगी. भाजपा के मुताबिक ममता बनर्जी और उनकी पार्टी का भविष्य अंधकारमय देखकर ही पार्टी नेताओं में भगदड़ मची है. 2021 के विधानसभा चुनाव में दो सौ से ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाने के लिए भाजपा 'मिशन बंगाल' में जुटी है. तैयारियों को धार देने के लिए गृहमंत्री अमित शाह एक बार फिर शनिवार से बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर पहुंच चुके हैं. 

काबिलेगौर है कि गृहमंत्री अमित शाह के पिछले से लेकर इस दूसरे दौरे के एक महीने के बीच ममता बनर्जी के करीबी चार विधायकों- मिहिर गोस्वामी, सुवेंदु अधिकारी, जितेंद्र तिवारी, शीलभद्र दत्त के इस्तीफे हो चुके हैं. हालांकि एक नाटकीय घटनाक्रम में टीएमसी के वरिष्ठ नेता अरूप विस्वास से मुलाकात के बाद जितेंद्र तिवारी ने बीजेपी में शामिल होने से इंकार कर दिया. साथ ही ममता बनर्जी से माफी मांगने की बात भी कही.

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और दार्जिलिंग से सांसद राजू बिष्ट ने चौंकाने वाला दावा करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी की सरकार अल्पमत में आ जाएगी. उन्होंने कहा, 'ममता बनर्जी की पार्टी डूबता जहाज बन चुकी है. बंगाल में अगली सरकार भाजपा की बननी तय है. तृणमूल कांग्रेस के कई बागी नेता भाजपा में आने को तैयार हैं. जनवरी तक कई विधायक इस्तीफा देंगे. चुनाव आते-आते ममता बनर्जी सरकार अल्पमत में आ जाएगी.'

भाजपा सांसद ने कहा कि कोरोना प्रबंधन में ममता बनर्जी सरकार बुरी तरह फेल हुई. पहले कोरोना से बचाव के लिए सही से राज्य में जरूरी इंतजाम नहीं हुए और जब केंद्र सरकार ने मुफ्त राशन की व्यवस्था कर जनता को राहत देने की कोशिश की तो राज्य में सत्ताधारी लोगों ने लूटखसोट मचा दी. जनता को न राशन मिला और न ही अन्य जरूरी सुविधाएं. जिससे राज्य में ममता बनर्जी का ग्राफ तेजी से गिरने से ही उनकी पार्टी के नेताओं में खलबली मची है.

भाजपा के पाश्चिम बंगाल प्रदेश उपाध्यक्ष रितेश तिवारी ने आकहा कि गृहमंत्री अमित शाह ने राज्य में दो सौ से ज्यादा सीटों के जीतने की भविष्यवाणी की है. उन्होंने बंगाल की जनता में भाजपा को लेकर उत्साह और जमीनी रिपोर्ट के आधार पर यह आंकड़ा बताया है. गृहमंत्री अमित शाह के हर दौरे के दौरान सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस मुखिया ममता बनर्जी बेचैन हो उठती हैं. ममता बनर्जी के बुरे दिन शुरू हो चुके हैं. यही वजह है कि तृणमूल कांग्रेस के नेताओं में इस्तीफे की झड़ी लग गई है.

पश्चिम बंगाल में कुल 294 विधानसभा सीटें हैं. 2016 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने 219 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत से लगातार दूसरी बार सरकार बनाई थी. कांग्रेस को तब 23, लेफ्ट को 19 और भाजपा को 16 सीटें हासिल हुई थीं. अगले साल 2021 में अप्रैल से मई के बीच चुनाव होने की संभावना है. भाजपा ने दो सौ से ज्यादा सीटें जीतने का टारगेट तय किया है. गृहमंत्री अमित शाह 19 दिसंबर से पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर हैं. इससे पहले वह पांच नवंबर को भी दो दिनों के दौरे पर गए थे. पार्टी नेताओं के मुताबिक चुनाव तक हर महीने गृहमंत्री अमित शाह बंगाल का दौरा करते रहेंगे.

First Published : 19 Dec 2020, 10:57:29 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.