logo-image
लोकसभा चुनाव

बांग्लादेशी सांसद की हत्या मामले में प्रोफेशनल कसाई मुंबई से गिरफ्तार, मर्डर मिस्ट्री में Honey Trap का एंगल

बांग्लादेश की सत्तारूढ़ पार्टी अवामी लीग के सांसद अनवारुल अजीम अनवर की कोलकाता में हत्या से भारत और बांग्लादेश दोनों देशों में हड़कंप मचा हुआ है.

Updated on: 24 May 2024, 08:23 AM

नई दिल्ली:

Bangladesh MP murder case: बांग्लादेश की सत्तारूढ़ पार्टी अवामी लीग के सांसद अनवारुल अजीम अनवर (Anwarul Azim Anar murder case) की कोलकाता में हत्या से भारत और बांग्लादेश दोनों देशों में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस लगातार इस गुत्थी को सुलझाने की कोशिश में जुटी है. इसी बीच बकौल सूत्र, पश्चिम बंगाल अपराध जांच विभाग (CID) ने बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम अनवर की "हत्या" के सिलसिले में एक पेशेवर कसाई को गिरफ्तार किया है, जिसकी पहचान बांग्लादेश के खुलना जिले के बराकपुर का निवासी जिहाद हवलदार (Jihad Hawladar) के तौर पर हुई है. ये शख्स वारदात के बाद से अवैध रूप से मुंबई में रह रहा था. 

CID ​​सूत्रों के मुताबिक, संदिग्ध जिहाद हवलदार को मामले के मुख्य आरोपी अख्तरुज्जमां (Akhtaruzzaman), जोकि बांग्लादेशी मूल का अमेरिकी नागरिक और सांसद का करीबी दोस्त था, द्वारा दो महीने पहले भाड़े पर मुंबई से कोलकाता लाया गया था. 

दावा है कि, हवलदार को अख्तरुज्जमां ने बांग्लादेशी सांसद की हत्या को अंजाम देने के लिए, वारदात पर खर्च किए 5 करोड़ रुपये में से एक हिस्सा दिया था. हवलदार वारदात की रोज़ कोलकाता हवाई अड्डे के पास एक होटल में रह रहा था. 

आखिरी बार दोस्त के फैल्ट में नजर आए बांग्लादेशी सांसद

गौरतलब है कि, बांग्लादेश के सांसद को आखिरी बार कोलकाता के न्यू टाउन इलाके में एक फ्लैट में दाखिल होते देखा गया था. पुलिस तफ्तीश में खुलासा हुआ कि, फ्लैट का मालिक उत्पाद शुल्क विभाग का कर्मचारी था, जिसने सांसद के दोस्त को ये फ्लैट किराए पर दिया था. 

बांग्लादेश के गृह मंत्री असदुज्जमां खान (Bangladesh Home Minister Asaduzzaman Khan) ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि, बीते 13 मई को कोलकाता से लापता हुए सांसद की हत्या कर दी गई है. इस मामले में अबतक तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. फिलहाल सांसद का शव बरामद नहीं किया जा सका है. 

इलाज के लिए भारत आए थे बांग्लादेशी सांसद

मिली जानकारी के मुताबिक, तीन बार के बांग्लादेशी सांसद कथित तौर पर इलाज के लिए 12 मई को कोलकाता पहुंचे थे. वह शुरू में उत्तरी कोलकाता के बारानगर निवासी अपने पारिवारिक मित्र गोपाल विश्वास के आवास पर रुके थे. अगले दिन, 13 मई को, अनवारुल अनवर एक डॉक्टर से मिलने के लिए बिस्वास के घर से निकल गए थे. हालांकि, सांसद 17 मई से संपर्क में नहीं थे, जिसके कारण बिस्वास को एक दिन बाद गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करानी पड़ी. 

मर्डर मिस्ट्री में हनी ट्रैप का एंगल

वहीं पश्चिम बंगाल CID ने मामले में हनी ट्रैप की आशंका जताई है. पुलिस ने संदेह जताया है कि, बांग्लादेशी सांसद हनी ट्रैप के शिकार हुए होंगे. जांच से संकेत मिला कि बांग्लादेशी सांसद ‘हनी ट्रैप’ में फंसे होंगे.