News Nation Logo
भारत में अब तक कोविड के 3.46 करोड़ मामले सामने आए हैं: लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हरियाणा में अगले आदेश तक गुरुग्राम, सोनीपत, फरीदाबाद और झज्जर के स्कूलों को बंद करने का आदेश Omicron Update: 31 देशों में 400 से ज्यादा संक्रमण के मामले मलेशिया में ओमीक्रॉन के पहले मामले की पुष्टि अमेरिका में ओमीक्रॉन से संक्रमण के मामले बढ़कर 8 हुए केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: CCTV के मामले में दिल्ली दुनिया में नंबर 1 केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में महिलाएं पूरी तरह सुरक्षित केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में 1.40 कैमरे और लगाए जाएंगे थोड़ी देर में ओमीक्रॉन पर जवाब देंगे स्वास्थ्य मंत्री IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक के रूप में ओकामोटो की जगह लेंगी गीता गोपीनाथ 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दलों के सांसदों का गांधी प्रतिमा के पास विरोध-प्रदर्शन यमुना एक्‍सप्रेसवे पर सुबह सुबह बड़ा हादसा, मप्र पुलिस के दो जवानों समेत चार की मौत जयपुर में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित

बंगाल सरकार ने पुलिस व प्रशासन से कहा, बांग्लादेश में हिंसा के बाद सतर्क रहें

बंगाल सरकार ने पुलिस व प्रशासन से कहा, बांग्लादेश में हिंसा के बाद सतर्क रहें

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Oct 2021, 11:00:01 PM
Bangladeh drifting

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

कोलकाता: बांग्लादेश में सांप्रदायिक अशांति के बाद राज्य के खुफिया विभाग द्वारा अलर्ट जारी किए जाने के अगले दिन, ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार ने सोमवार को प्रशासन और पुलिस को सतर्क रहने और राज्य में किसी तरह की सांप्रदायिकता फैलाने की अनुमति किसी को नहीं देने का निर्देश दिया।

राज्य सरकार ने सभी पुलिस कमिश्नरियों, अतिरिक्त सीपी, एसपी, डीआईजी और आईजीपी, उत्तर बंगाल के आईजी (आईबी), क्षेत्रीय आईजी, एडीजी और रेलवे के डीजीपी को लिखित निर्देश भेजकर सतर्क रहने और कोई अप्रिय घटना होने पर तत्काल कार्रवाई करने का आग्रह किया है।

मंगलवार को फतेहा-दावाज-दहम है और जिला प्रशासन को संवेदनशील इलाकों पर कड़ी नजर रखने के लिए कहा गया है। सभी सीमावर्ती जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। जिलाधिकारियों और एसपी को सभी को निर्देश देने के लिए कहा गया है। राज्य के गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, किसी भी तरह के भड़काऊ या सांप्रदायिक संदेशों के प्रसार से सख्ती से निपटा जाएगा।

राज्य सरकार के निर्देश राज्य के खुफिया विभाग द्वारा रविवार को अलर्ट जारी किए जाने के बाद आए हैं। बांग्लादेश में नोआखाली और चटगांव जिलों में मंदिरों और दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाओं के मद्देनजर पश्चिम बंगाल में दुर्गा की मूर्तियों के विसर्जन और फतेहा-दावाज-दहम पर विचार करते हुए राज्य के खुफिया विभाग ने एक अलर्ट जारी किया था। किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचने के लिए सभी जिलों, विशेषकर सीमावर्ती इलाकों को सतर्क करते हुए अधिकारियों को संवेदनशील बने रहने के लिए कहा गया है।

अलर्ट ने कहा गया था, 13 अक्टूबर के बाद से बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों की तोड़फोड़ की पोस्टों से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म भर गए हैं। इन मुद्दों को केंद्रित करते हुए सीमावर्ती जिले अति संवेदनशील हो गए हैं और विभिन्न हिंदू कट्टरपंथी संगठनों के नेता सक्रिय हो गए हैं और अपनी बात प्रेस को पहुंचा रहे हैं और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री से वहां के सनातनी लोगों को तत्काल राहत देने के लिए आवश्यक कदम उठाने का आग्रह कर रहे हैं।

आगे कहा गया है, यहां यह उल्लेख करना उचित है कि पश्चिम बंगाल में दुर्गा मूर्तियों का विसर्जन शुरू हो चुका है और यह 18 अक्टूबर तक चलेगा, जबकि मुस्लिम त्योहार फतेहा-दावाज-दहम 18 और 19 अक्टूबर को आयोजित होने वाला है।

अधिकारी ने कहा, हम राज्य में किसी भी तरह की सांप्रदायिक अशांति को बर्दाश्त नहीं करेंगे और सभी जिला प्रशासन और पुलिस को किसी भी तरह की सांप्रदायिक स्थिति से सख्ती से निपटने के लिए कहा गया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Oct 2021, 11:00:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.