News Nation Logo
Banner

बागी हुए प्रवीण तोगड़िया, राम मंदिर निर्माण को लेकर केंद्र के खिलाफ शुरू किया आमरण अनशन

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की मांग को लेकर विहिप के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार दोपहर 12 बजे से कुछ समर्थकों और संतो के साथ अहमदाबाद के राज्य स्थित मुख्यालय में अनिश्चितकालीन उपवास शुरू कर दिया है।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar1 | Updated on: 17 Apr 2018, 05:06:29 PM
प्रवीण तोगड़िया

नई दिल्ली:

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की मांग को लेकर विहिप(विश्व हिंदू परिषद) के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार दोपहर 12 बजे से कुछ समर्थकों और संतो के साथ अहमदाबाद के राज्य स्थित मुख्यालय में आमरण अनशन शुरू कर दिया है।

तोगड़िया ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा,'आपके पास जो सत्ता है वो हिन्दुओं कि लाशों पर मिली है। उन्होंने कहा,क्या आप भूल गए कि पुलिस की गोली से 300 हिन्दुओं को मरवाया गया था?'

उन्होंने कहा कि सरकार को हिंदू भाइयों से किए वादे को नहीं भूलना चाहिए। उसे जल्द से जल्द संसद में विधेयक लाकर राम मंदिर का निर्माण कराना चाहिए।

प्रवीण तोगड़िया अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण, गौ हत्या पर राष्ट्रव्यापी प्रतिबंध, कॉमन सिविल कोड को लागू करने और विस्थापित कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास के मुद्दे की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे हैं।

तोगड़िया ने कहा,' आज भी 1200 से ज्यादा गुजरात के हिंदू आजीवन कारावास भुगत रहे है। सैकड़ो हिंदुओं की लाश और हजारो हिंदुओं को कारावास, क्या आपको सत्ता में भेजने के लिए थी?'

यह भी पढ़ें: नकदी संकट: 15 मिनट मिल जाए तो संसद में खड़े नहीं रह पाएंगे पीएम मोदी

आपको बता दें कि सोमवार को तोगड़िया ने पीएम मोदी की आलोचना करते हुए कहा था कि सीमा पर सैनिक सुरक्षित नहीं हैं। किसान खुदकुशी कर रहे हैं। हमारी बेटियां हमारे घरों में सुरक्षित नहीं हैं और प्रधानमंत्री विदेश दौरे पर गए हैं।

गौरतलब है कि तोगड़िया 32 साल तक विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष रहे हैं। पिछले महीने वीएचपी इंटरनेशनल वर्किंग प्रेसिडेंट के पद से इस्तीफा देने के बाद तोगड़िया के नामांकित राघव रेड्डी विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष पद से चुनाव हार गए।

अध्यक्ष पद के चुनाव में कुल 192 मत डाले गए थे जिसमें सदाशिव कोकजे को सबसे ज्यादा 131 और राघव रेड्डी को 60 वोट मिले। तोगड़िया को नई टीम में कोई भी नया दायित्व नहीं मिला है, जिसके बाद तोगड़िया ने संगठन छोड़ने की घोषणा भी की है।

इससे पहले तोगड़िया ने 2016 में पटेल आंदोलन का नेतृत्व करने वाले हार्दिक पटेल से भी मुलाकात की थी।

यह भी पढ़ें: मक्का मस्जिद ब्लास्ट: बीजेपी-कांग्रेस में घमासान, सोनिया, राहुल से माफी की मांग

First Published : 17 Apr 2018, 04:19:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.