News Nation Logo

IAS से लेकर रेल मंत्री बनने तक का सफर अश्विनी वैष्णव ने ऐसे किया तय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार की शाम हुए कैबिनेट विस्तार में पूर्व नौकरशाह अश्निनी वैष्णव को कैबिनेट मंत्री के तौर पर जगह दी, वहीं रात में हुए बंटवारे में उन्हें रेल और आईटी जैसे दो बड़े मंत्रालयों की भी जिम्मेदारी दी गई.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 08 Jul 2021, 10:24:54 AM
अश्निनी वैष्णव

अश्निनी वैष्णव (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार की शाम हुए कैबिनेट विस्तार में पूर्व नौकरशाह अश्निनी वैष्णव को कैबिनेट मंत्री के तौर पर जगह दी, वहीं रात में हुए बंटवारे में उन्हें रेल और आईटी जैसे दो बड़े मंत्रालयों की भी जिम्मेदारी दी गई. अश्विनी वैष्णव की छवि एक कर्मठ नौकरशाह की रही है. राजस्थान के जोधपुर में पैदा हुए 50 वर्षीय अश्विनी वैष्णव 1994 बैच के ओडिशा काडर के आईएएस अफसर हैं. भाजपा के टिकट पर 28 जून, 2019 को वह ओडिशा से राज्यसभा सदस्य चुने गए थे. वैष्णव के केंद्रीय मंत्री बनने पर पिता दाऊलाल ने कहा, 'यह सब उसकी मेहनत के साथ ही ईश्वर,बुजुर्गों के आशीष का फल है.'  बता दें कि अश्विन वैष्णव के दो लड़के हैं और दोनों ही लंदन में पढ़ाई कर रहे हैं.

और पढ़ें; पीएम मोदी की नई कैबिनेट में किसे मिला कौन सा मंत्रालय, देखें पूरी लिस्ट

खास बात है कि ओडिशा में भाजपा के पास पर्याप्त विधायकों की संख्या न होने के बावजूद ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक का समर्थन पाकर वह राज्यसभा सांसद बनने में सफल हुए थे. बताया जाता है कि प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर नवीन पटनायक ने वैष्णव को राज्यसभा निर्वाचित होने में साथ दिया था. अश्निनी वैष्णव ने वर्ष 2003 तक ओडिशा में कार्य किया.

गौरतलब है कि वर्ष 1999 में आए चक्रवात के दौरान ओडिशा में उनके कार्य को आज भी सराहा जाता है. ओडिशा के बाद अश्विनी वैष्णव केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर पीएमओ में पहुंचे. यहां तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय पीएमओ में उपसचिव नियुक्त हुए. वहीं प्रधानमंत्री पद से वाजपेयी के हटने के बाद भी वैष्णव उनके निजी सचिव रहे. 

ये भी पढ़ें: Cabinet Expansion: स्मृति ईरानी से कपड़ा मंत्रालय छिना तो गोयल से रेलवे

बताया जाता है कि वाजपेयी के साथ रहने के दौरान से ही वैष्णव को गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जानते थे. उनके रिश्ते बाद में और अच्छे होते गए. अपनी कैबिनेट में सरकारी कार्य में माहिर अनुभवी व्यक्ति की जरूरत पड़ने पर प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें अपने कैबिनेट में जगह दी. अश्विनी वैष्णव विदेश में भी पढ़ाई कर चुके हैं. 2008 में आईएएस की नौकरी छोड़ने के बाद अमेरिका के व्हार्टन विश्वविद्यालय से एमबीए की भी शिक्षा उन्होंने हासिल की.

First Published : 08 Jul 2021, 10:24:54 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.