News Nation Logo
Banner

आसाराम को जेल में सता रहा है कोरोना का डर, स्वामी ने कहा रिहा करे सरकार

कोरोना (Corona Virus) के कारण देश में कई जेलों से कैदियों को छोड़े जाने की कवायदों के बीच भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने आसाराम बापू की भी रिहाई की मांग की है.

By : Nihar Saxena | Updated on: 30 Mar 2020, 03:49:23 PM
Asaram Bapu

नाबालिग से दुष्कर्म का दोषी आसारम बंद है जेल में. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • नाबालिग से बलात्कार के दोषी 2013 से जेल में बंद है आसाराम बापू.
  • सुब्रमण्यम स्वामी ने की मोदी सरकार से रिहाई की मांग.
  • ट्वीट कर कहा जेल में कोरोना वायरस से डर रहा बापू.

नई दिल्ली:

कोरोना (Corona Virus) के कारण देश में कई जेलों से कैदियों को छोड़े जाने की कवायदों के बीच भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने आसाराम बापू की भी रिहाई की मांग की है. नाबालिग से दुष्कर्म मामले में जेल की हवा खा रहे आसाराम की अधिक उम्र और बीमारी का हवाला देते हुए सुब्रह्मण्यम स्वामी ने उसकी रिहाई की मांग की है. जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद 1375 कैदियों में आसाराम बापू भी है. बीते दिनों कोरोना के बहाने खुद को पैरोल पर छोड़े जाने की मांग को लेकर आसाराम (Asaram Bapu) के भूख हड़ताल पर बैठने की भी खबर आई थी. बताया जाता है कि आसाराम को कोरोना के कारण कैदियों के बीच डर लग रहा है.

यह भी पढ़ेंः मजदूरों के पलायन पर नाराज हुई मोदी सरकार, केजरीवाल को केंद्र ने सुनाई खरी-खरी

स्वामी ने ट्वीट में की रिहा करने की वकालत
सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सोमवार को एक ट्वीट किया, 'यदि दोषी करार कैदियों को छोड़ा जा रहा है तो गलत तरीके से दोषसिद्ध करार 85 वर्षीय बीमार आसाराम बापू को पहले छोड़ना चाहिए.' सर्वोच्च न्यायालय ने बीते दिनों एक याचिका की सुनवाई करते हुए कोरोना वायरस के खतरे के कारण जेलों के इंतजाम पर सवाल खड़े किए थे. क्षमता से कई गुना ज्यादा कैदियों के होने पर राज्य सरकारों को कुछ को पैरोल पर छोड़ने का सुझाव दिया था. पैरोल पर वे कैदी छोड़े जाते हैं जिनका जेल में चाल-चलन ठीक पाया जाता है.

यह भी पढ़ेंः योगी सरकार ने गरीब मजदूरों को दी बड़ी राहत, 27.15 लाख मजदूरों को भेजे 611 करोड़ रुपये

सुप्रीम कोर्ट की सलाह पर छोड़े जा रहे हैं कैदी
सुप्रीम कोर्ट की सलाह पर अमल करे हुए उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में कैदियों को छोड़ने की कवायद चल रही है. ऐसे में सुब्रह्मण्यम स्वामी ने भी आसाराम बापू को छोड़ने की मांग उठाई है. उल्लेखनीय है कि जोधपुर के निकट स्थित आसाराम के मनाई आश्रम में रहने वाली एक नाबालिग छात्रा ने आसाराम पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. एक अगस्त 2013 को उजागर हुए इस मामले में 31 अगस्त, 2013 को आसाराम की इंदौर से गिरफ्तारी हुई थी. वहीं 25 अप्रैल को जोधपुर की अदालत ने उन्हें नाबालिग से दुष्कर्म करने का दोषी माना था. तब से आसाराम बापू जेल में बंद हैं.

First Published : 30 Mar 2020, 03:49:23 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×