News Nation Logo
Banner

IITs में देशभक्तिपूर्ण रॉक शो करवाने को लेकर ओवैसी ने केन्द्र सरकार पर साधा निशाना

देश के आईआईटी और केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में 'देशभक्तिपूर्ण रॉक शो' आयोजित करवाने को लेकर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है।

News Nation Bureau | Edited By : Saketanand Gyan | Updated on: 30 Aug 2017, 12:57:29 PM
AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

highlights

  • 'ये इंडिया का टाइम है' प्रोग्राम के तहत कुछ बैंड्स देश भर के शिक्षण संस्थानों में कन्सर्ट करेंगे
  • पिछले 60 सालों में सरकार ने कभी संस्थान की कार्यप्रणाली में हस्तक्षेप नहीं किया: ओवैसी
  • आईआईटी के अंदर वेकैंसी को नहीं पूरा कर रही है और लोगों का ध्यान भटका रही है: ओवैसी

नई दिल्ली:

देश के आईआईटी और केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में 'देशभक्तिपूर्ण रॉक शो' आयोजित करवाने को लेकर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है।

ओवैसी ने तंज कसते हुए मंगलवार को कहा कि सरकार का यह कदम देश के महत्वपूर्ण शिक्षण संस्थानों के कार्यप्रणालियों में जबरन हस्तक्षेप करने जैसा है। इस तरह का निर्णय अचंभित और अजीब तरीके का है।

हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने कहा, 'यह बहुत ही अचंभित करता है कि सरकार देशभक्ति जगाने के लिए संस्थानों में रॉक बैंड भेज रही है। कृपया देशभक्तिपूर्ण रॉक बैंड को परिभाषित करें।'

उन्होंने कहा कि देश के आईआईटी संस्थानों ने अपनी सभी ऊंचाईयों को छूआ है, क्योंकि पिछले 60 सालों में सरकार ने कभी संस्थान की कार्यप्रणाली में हस्तक्षेप नहीं किया था। इस तरह के कार्यक्रम संस्थान को सहायता नहीं पहुंचा सकती है।

ओवैसी ने कहा, 'अब सरकार उन्हें कह रही है कि क्या किया जाय और क्या न किया जाय, जबकि आईआईटी के अंदर वेकैंसी को नहीं पूरा कर रही है। सरकार ने रिसर्च के फंड को भी बहुत ज्यादा घटा दिया है।'

और पढ़ें: दिल्ली हाई कोर्ट ने SC-ST कर्मचारियों का प्रमोशन किया रद्द, सरकार आंख मूंदकर ले रही फैसला

उन्होंने कहा कि यह सब रोजगार उत्पन्न न कर पाने की एनडीए सरकार की असफलताओं से लोगों का ध्यान हटाने के लिए किया जा रहा है। वे आईआईटी और केन्द्रीय विश्वविद्यालयों की असल जरूरतों को पूरा करने में सहायता नहीं कर रहे हैं।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि यह साफ तौर पर असल मुद्दों से ध्यान भटकाने का नया तरीका है। आईआईटी जैसे संस्थानों के पास पूरी स्वतंत्रता होनी चाहिए, लेकिन सरकार कह रही है कि वो रॉक बैंड भेजेगी। क्या एचआरडी मंत्रालय मुझे बता सकती है कि रॉक बैंड कब देशभक्ति गीत गाएंगे और हर किसी को क्या पहनना चाहिए।

और पढ़ें: ओडिशा सरकार ने 7वें वेतन आयोग को लागू करने की घोषणा की, सितंबर से लागू

ओवैसी के बयान के बाद बीजेपी प्रवक्ता नलिन कोहली ने जवाब दिया कि चरम और शंकित दृष्टिकोण वाले लोग ही राष्ट्रीय हित में आने वाले किसी भी चीज का विरोध करते हैं।

उन्होंने कहा, 'मुझे नहीं पता कि देशभक्ति से जुड़ी चीजों में इस तरह के विवादित बयान क्यों आते हैं। अगर हम आजादी के 70 साल मना रहे हैं, तो इसे मनाने का अलग- अलग तरीका है। युवाओं के लिए म्यूजिक, रॉक शो के जैसा तरीका भी है।'

सरकार के याजना के अनुसार, 'ये इंडिया का टाइम है' प्रोग्राम के तहत सरकार ने कुछ बैंड्स को चिन्हित किया है, जो देश भर के शिक्षण संस्थानों के कैंपस में घूमेगी और देशभक्ति गाने का परफॉरमेंस करेगी।

इस प्रोग्राम को देश की आजादी के 70 साल और भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे होने पर अगले कुछ महीनों के दौरान आयोजित किया जाएगा।

और पढ़ें: पाक अधिकृत कश्मीर में विरोध प्रदर्शन पर पुलिस ने लड़कियों पर भांजी लाठियां, 15 घायल

First Published : 30 Aug 2017, 12:25:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो