News Nation Logo
Banner

लाल किला हिंसा में एक और गिरफ्तारी, आरोपी इकबाल सिंह को स्पेशल सेल ने पकड़ा

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के मामले में एक और गिरफ्तारी हुई है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 10 Feb 2021, 11:43:50 AM
accused Ikbal singh

लाल किला हिंसा में आरोपी इकबाल सिंह को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • लालकिला हिंसा में एक और गिरफ्तारी
  • आरोपी इकबाल सिंह की पंजाब से गिरफ्तारी
  • दिल्ली पुलिस ने रखा था 50 हजार का ईनाम

होशियारपुर:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के मामले में एक और गिरफ्तारी हुई है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने आरोपी इकबाल सिंह को गिरफ्तार किया है. वह 26 जनवरी को लाल किला (Red Fort) पर हुए हिंसा मामले में वांछित था. इकबाल सिंह (Iqbal Singh) पर 50 हजार रूपये का ईनाम रखा गया था. बीती रात पंजाब के होशियारपुर (Hoshiarpur) जिले से स्पेशल सेल ने इकबाल सिंह को पकड़ा है. इससे पहले लालकिला हिंसा (Red Fort Violence) में आरोपी और पंजाबी अभिनेता से एक्टिविस्ट बने दीप सिद्धू (Deep Sidhu) को गिरफ्तार किया गया था. 

यह भी पढ़ें : BJP के खिलाफ बंगाल में TMC की जीत के लिए ये रणनीति बना रहे प्रशांत किशोर

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दीप सिद्धू को मंगलवार को गिरफ्तार किया. 26 जनवरी को लाल किला पर हुई हिंसा के बाद से सिद्धू फरार था. पुलिस ने पंजाब और हरियाणा में कई जगहों पर उनकी तलाश की और उन पर 1 लाख रुपये का इनाम भी घोषित किया था. मंगलवार को हरियाणा के करनाल से सिद्धू को पकड़ लिया. पुलिस जांच करने में लगी है कि इन आरोपियों को 26 जनवरी के बाद कहां से पनाह मिली और इसे किसने मुहैया कराया.

देखें : न्यूज नेशन LIVE TV

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में संलिप्तता के लिए दीप सिद्धू, जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और गुरजंत सिंह के बारे में जानकारी के लिए प्रत्येक पर 1 लाख रुपये का नकद इनाम रखा था और जजबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित किया था. हिंसा में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे, जिनमें पुलिसकर्मी भी शामिल थे.

यह भी पढ़ें : अठावले का संकेत और आजाद के घर जुटे जी-23 नेता... कांग्रेस के लिए परेशानी

कहा जा रहा है कि जिन लोगों ने दीप सिद्धू को शरण दी थी, वे भी कानूनी कार्रवाई का सामना कर सकते हैं. इससे पहले, एक अन्य सह-अभियुक्त सुखदेव सिंह को चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया था. वहीं 31 जनवरी को सिद्धू ने अपने वेरिफाइड फेसबुक अकाउंट पर एक वीडियो अपलोड किया था. 15 मिनट के लंबे वीडियो संदेश 'सीधे दिल से' में उन्हें पंजाबी में एक भावनात्मक बयान देते हुए देखा गया, जिसमें उन्होंने कहा था, 'मुझे बदनाम किया जा रहा है .. मैंने अपना पूरा जीवन पीछे छोड़ दिया, और यहां पंजाबियों के विरोध में शामिल होने के लिए आया, लेकिन अब मुझे देशद्रोही करार दिया जा रहा है.' 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 10 Feb 2021, 10:51:58 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.