News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

PM सुरक्षा चूक मामले में केंद्र सख्त, अमित शाह ने जांच के लिए बनाई टीम 

मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा, नरेंद्र मोदी आज सुबह बठिंडा पहुंचे, जहां से वे हेलीकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाने वाले थे. बारिश और खराब ²श्यता के कारण प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 06 Jan 2022, 11:30:32 PM
Amit Shah

Amit Shah (Photo Credit: FILE PIC)

नई दिल्ली:

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का मामला जोर पकड़ता जा रहा है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन किया है. जांच टीम जल्द ही गृह मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. गृह मंत्रालय ने जांच टीम में  सुधीर कुमार सक्सेना (सचिव सुरक्षा- कैबिनेट सचिवालय) करेंगे और इसमें बलबीर सिंह (संयुक्त निदेशक, IB) और एस सुरेश (IG, SPG) को रखा है. 

सुरक्षा उल्लंघन पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी

इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध लगने के बाद ट्वीट किया था. ट्वीट में अमित शाह ने कहा था कि गृह मंत्रालय ने पंजाब में पीएम मोदी के सुरक्षा उल्लंघन पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. अमित शाह ने ट्वीट में आगे लिखा था कि पीएमके दौरे में सुरक्षा प्रक्रिया में इस तरह की लापरवाही पूरी तरह से अस्वीकार्य है और जवाबदेही तय की जाएगी. गृह मंत्रालय ( MHA ) ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा था कि पंजाब दौरे के दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक हुई थी. मंत्रालय ने सुरक्षा उल्लंघन का संज्ञान लेते हुए पंजाब सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है और इस चूक की जिम्मेदारी तय करने और सख्त कार्रवाई करने को कहा है.

प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया

मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा, नरेंद्र मोदी आज सुबह बठिंडा पहुंचे, जहां से वे हेलीकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाने वाले थे. बारिश और खराब ²श्यता के कारण प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया. जब मौसम में सुधार नहीं हुआ तो निर्णय लिया गया कि प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाएंगे, जिसमें दो घंटे से अधिक समय लगेगा. डीजीपी पंजाब पुलिस द्वारा आवश्यक सुरक्षा प्रबंधों की आवश्यक पुष्टि के बाद प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से यात्रा के लिए रवाना हुए. बयान में आगे कहा गया, हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर, जब प्रधानमंत्री का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा तो पाया गया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया है. बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहे। यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी.

 

First Published : 06 Jan 2022, 11:30:32 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.