News Nation Logo
भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

भारत-जापान के साथ नौसेना अभ्यास में  मिग 29K ने दिखाया करतब

एयर डोमेन ऑपरेशंस में आईएनएस कोच्चि के डेक से लॉन्च किए गए एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट पर उन्नत एंटी-एयरक्राफ्ट फायरिंग अभ्यास और भारतीय नौसेना के मिग 29K लड़ाकू विमानों द्वारा नियंत्रित बियॉन्ड विजुअल रेंज (बीवीआर) लड़ाकू अभ्यास शामिल थे.  

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 09 Oct 2021, 05:26:39 PM
MIG 29K

नौसेना का मिग 29K (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • JIMEX नामक वार्षिक अभ्यास 6 से 8 अक्टूबर तक अरब सागर में आयोजित किया गया
  • भारतीय नौसेना और जापानी समुद्री आत्मरक्षा बल (जेएमएसडीएफ) का संयुक्त नौसैनिक अभ्यास कई वर्षों से किया जा रहा है
  • इस अभ्यास का उद्देश्य स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र का एहसास करना है

नई दिल्ली:

भारत और जापान की नौसेनाओं ने तीन दिवसीय संयुक्त समुद्री अभ्यास किया. JIMEX नामक वार्षिक अभ्यास 6 से 8 अक्टूबर तक अरब सागर में आयोजित किया गया था. भारतीय नौसेना (IN) और जापान मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स (JMSDF) के जहाजों और विमानों ने समुद्री संचालन के साथ-साथ हवाई क्षेत्र के वायु, सतह और उप-सतह आयामों पर इस अभ्यास में भाग लिया. जिसमें उच्च गति के संचालन पर ध्यान केंद्रित किया गया. स्वदेशी  गाइडेड मिसाइल विध्वंसक, आईएनएस कोच्चि और आईएनएस तेग ने भारतीय नौसेना का प्रतिनिधित्व किया. एयर डोमेन ऑपरेशंस में आईएनएस कोच्चि के डेक से लॉन्च किए गए एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट पर उन्नत एंटी-एयरक्राफ्ट फायरिंग अभ्यास और भारतीय नौसेना के मिग 29K लड़ाकू विमानों द्वारा नियंत्रित बियॉन्ड विजुअल रेंज (बीवीआर) लड़ाकू अभ्यास शामिल थे.  
 
भारतीय नौसेना और जापानी समुद्री आत्मरक्षा बल (जेएमएसडीएफ) का संयुक्त नौसैनिक अभ्यास कई वर्षों से किया जा रहा है. इस अभ्यास का उद्देश्य स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र का एहसास करना है.

जेएमएसडीएफ का कहना है कि पिछले कुछ वर्षों में भारत और जापान के बीच नौसेना सहयोग का दायरा बढ़ा है. पिछले साल सितंबर के महीने में भारतीय नौसेना और जेएमएसडीएफ ने तीन दिवसीय नौसैनिक अभ्यास जेआईएमईएक्स-2020 आयोजित किया था. 

यह भी पढ़ें: डेनमार्क की PM फ्रेडरिक्सन ने प्रधानमंत्री मोदी से की चर्चा, दुनिया के लिए प्रेरणा स्रोत बताया

बता दें कि पिछले साल चीन और पाकिस्तान सीमा पर जारी गतिरोध के बीच मालाबार नौसेना अभ्यास का दूसरा चरण उत्तरी अरब सागर में शुरू हुआ. 17-20 नवंबर के बीच हुए मालाबार नौसेना अभ्यास में चार देश - भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया हिस्सा लिया था. जिसके बाद इस नौसेना अभ्यास ने चीन की चिंता बढ़ा दी थी. 

इससे पहले 3 से 6 नवंबर 2020 को बंगाल की खाड़ी में मालाबार नौसेना अभ्यास का पहला चरण संपन्न किया गया था. वहीं, दूसरे चरण में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका की नौसेनाओं के बीच बढ़ती जटिलता के समन्वित संचालन शामिल हुए थे.

भारतीय नौसेना के स्वदेशी निर्मित पनडुब्बी खंडेरी और पी-8आई समुद्री टोही विमान भी अभ्यास के दौरान अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन किया था. इस अभ्यास में अमेरिकी नौसेना की स्ट्राइक कैरियर निमित्ज में पी-8ए समुद्री टोही विमान के अलावा क्रूजर प्रिंसटन और विध्वंसक स्टेरेट शामिल थे. वहीं, रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी को अभिन्न हेलीकॉप्टर के साथ-साथ बैलरेट का प्रतिनिधित्व किया गया था. चार देशों के बीच हो रहे सुंयक्त नौसेना मालाबार अभ्यास में जेएमएसडीएफ भी हिस्सा लिया था.

नौसेना मालाबार अभ्यास 2020 का दूसरा चरण भारतीय नौसेना के विक्रमादित्य कैरियर बैटल ग्रुप और यूएस नेवी के निमित्ज कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के आसपास केंद्रित संयुक्त ऑपरेशन का गवाह बना. भाग लेने वाले नौसैनिकों के जहाजों, पनडुब्बी और विमानों के साथ दो वाहक अगले चार दिनों तक अभियानों में लगे रहे. इन अभ्यासों में विक्रमादित्य एफ-18 के एमआईजी- 29K लड़ाकू विमानों द्वारा क्रॉस-डेक फ्लाइंग संचालन और उन्नत वायु रक्षा अभ्यास भी शामिल था.

First Published : 09 Oct 2021, 05:26:39 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो