News Nation Logo
Banner

सऊदी अरब में दो भारतीयों का सिर कलम, CM अमरिंदर सिंह ने इसे बताया 'बर्बर और अमानवीय'

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि होशियारपुर के सतविंदर और लुधियाना के हरजीत सिंह को 28 फ़रवरी को मौत की सजा दी गई.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 18 Apr 2019, 10:11:08 AM
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

सऊदी अरब में दो भारतीयों का सिर काटने का मामला सामने आया है. मीडियो रिपोर्ट्स के मुताबिक हत्या के मामले में दोषी ठहराये गए होशियारपुर निवासी सतविंदर कुमार और लुधियाना निवासी हरजीत सिंह का सिर कलम कर दिया गया है. इस घटना की निंदा करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने इस 'बर्बर और अमानवीय' बताते हुए गहरी नाराजगी जाहिर की है. साथ ही उन्होंने कहा है कि वह इस संबंध में विदेश मंत्रालय से विस्तृत रिपोर्ट मांगेंगे. मुख्यमंत्री ने इस पर शोक जताते हुए कहा कि यह बहुत दुखद है कि सभ्य देशों में आज भी ऐसी अमानवीय घटनाएं होती हैं. 

वहीं इस खबर की पुष्टि करते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि होशियारपुर के सतविंदर और लुधियाना के हरजीत सिंह को 28 फ़रवरी को मौत की सजा दी गई.

और पढ़ें: सऊदी अरब में 6 साल के लड़के का 'सिर कलम', वजह जानने के बाद पैरों तले खिसक जाएगी जमीन

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, 'दोनों को ट्रायल के लिए रियाद की जेल में भेजा गया जहां दोनों ने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया. 31 मई 2017 को उनके केस की सुनवाई के दौरान एक भारतीय अधिकारी भी मौजूद रहे. हालांकि, केस की सुनवाई के ही दौरान दोनों पर हिराबा (हाईवे पर लूटपाट) का केस भी शुरू हो गया. इस अपराध में भी फांसी की सजा तय है.'

दोनों को फांसी की सजा दी जाने के बारे में उस समय पता चला जब हरजीत की पत्नी सीमा रानी ने एक याचिका दी थी. याचिका पर कार्रवाई करते हुए विदेश मंत्रालय को पूरे घटनाक्रम की जानकारी मिली. सीमा रानी को भेजे गए पत्र के अनुसार, सतवीर और हरजीत को 2015 में 9 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया दोनों पर आरिफ इमामुद्दीन की हत्या का आरोप था.

ये भी पढ़ें: Encounter : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में सुरक्षा बलों ने 2 नक्सलियों को मार गिराया

खबरों की मुताबिक रियाद में भारतीय दूतावास को इस घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई थी. वहीं सऊदी अरब के कानून के मुताबिक़ मौत की सजा पाए व्यक्ति के शव को न तो परिजनों को और ना ही उसके देश को लौटाया जा सकता है और दो महीने बाद ही मृत्यु प्रमाण जारी होगा.

First Published : 18 Apr 2019, 09:52:34 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो