News Nation Logo
Banner

AMU छात्रसंघ के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष फैजुल हसन का विवादित बयान, कहा मुसलमान वो है जो...

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (Aligarh Muslim University) के पूर्व छात्र नेता फैजुल हसन (Former Student Leader Faizul Hasan) ने एक बड़ा ही विवादित बयान दिया है .

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 24 Jan 2020, 12:22:11 PM
AMU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन का विवादित बयान

AMU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन का विवादित बयान (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता फैजुल हसन ने दिया विवादित बयान.
  • फैजुल हसन ने छात्रों के एक धरने को संबोधित करते हुए कह दी बड़ी बात. 
  • एएमयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने बाद में ये भी साफ किया कि उनको किसी भी सरकार से नफरत नहीं है.

नई दिल्ली:

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (Aligarh Muslim University) के पूर्व छात्र नेता फैजुल हसन (Former student leader Faizul Hasan) ने एक बड़ा ही विवादित बयान दिया है जिसका वीडियो काफी वायरल भी हो रहा है. फैजुल हसन ने छात्रों के एक धरने को संबोधित करते हुए कहा है कि 'मुसलमान वो कौम हैं जो बर्बाद करने पर आएगी तो छोड़ेगी नहीं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हसन ने अपने बयान में ये भी कहा कि अगर सब्र की सीमा देखनी है तो हिंदुस्तानी मुसलमानों की देखिए, 1947 के बाद वर्ष 2020 तक यह सब्र है जो मुसलमान कर रहे हैं, कभी कोशिश नहीं की कि हिंदुस्तान टूट जाए, वरना रोक नहीं पाएंगे.

लेकिन इस बयान के बाद न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में फैजुल हसन ने धर्म के आधार पर बंटवारे की राजनीति से दूर रहने की बात की. साथ ही बीजेपी नेताओं को 22 करोड़ मुसलमानों को साथ लेकर चलने पर देश के मजबूत होने की बात कही.

यह भी पढ़ें: मारा गया जैश-ए-मोहम्मद का बड़ा आतंकी अबु सैफुतुल्ला, कई मामलों में पुलिस को थी तलाश

एएमयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने बाद में ये भी साफ किया कि उनको किसी भी सरकार से नफरत नहीं है लेकिन धर्म के आधार पर बंटवारे की कोई भी राजनीति उन्हें पसंद नहीं है. 

यह भी पढे़ं: Budget 2020: बजट में दोपहिया इंडस्ट्री को लेकर हो सकते हैं ऐलान, जानिए क्या हैं उम्मीदें

एएनआई से बातचीत में बाद में फैजुल हसन ने परमवीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद की बहादुरी की चर्चा की. उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय का समर्थन देश को मजबूत करेगा. उन्होंने कहा कि वीर अब्दुल हमीद ने पाकिस्तान के 22 टैंकरों को जलाया था. अगर अमित शाह और योगी ने देश के 22 करोड़ मुसलमानों के साथ वो प्रेम दिखाया होता तो कोई भी देश इनकी तरफ (भारत) आंख उठा कर नहीं देख पाता.

First Published : 24 Jan 2020, 11:20:55 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×