News Nation Logo

अकबरुद्दीन ओवैसी ने नरसिम्हा राव और एनटीआर की समाधि तोड़ने की चुनौती दी

अकबरुद्दीन ओवैसी, जो तेलंगाना विधानसभा में एआईएमआईएम नेता हैं, उन्होंने कहा कि हुसैन सागर का क्षेत्रफल 4,700 एकड़ से घटकर महज 700 एकड़ से भी कम रह गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 25 Nov 2020, 10:24:03 PM
akbaruddin owaisi

अकबरुद्दीन ओवैसी (Photo Credit: आईएएनएस)

नई दिल्ली:

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने तेलंगाना सरकार को पूर्व प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिम्हा राव और आंध्र प्रदेश के पूर्व (अविभाजित) मुख्यमंत्री एन.टी. रामाराव (एनईआर) की समाधियों को ध्वस्त करने की चुनौती दी है. इसके साथ ही ओवैसी ने राज्य सरकार को हैदराबाद में हुसैन सागर झील पर अन्य अतिक्रमण को हटाने की चुनौती भी दी.

उन्होंने ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनावों के संबंध में एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार झीलों पर बने गरीबों के घरों को ध्वस्त कर रही है, लेकिन शहर के बीचों-बीच हुसैन सागर में अतिक्रमणों की अनदेखी कर रही है. अकबरुद्दीन ओवैसी, जो तेलंगाना विधानसभा में एआईएमआईएम नेता हैं, उन्होंने कहा कि हुसैन सागर का क्षेत्रफल 4,700 एकड़ से घटकर महज 700 एकड़ से भी कम रह गया है.

उन्होंने सवाल दागते हुए कहा, हुसैन सागर पर नेकलेस रोड आ गया है. नरसिम्हा राव और एन.टी. रामाराव की समाधि व लुम्बिनी पार्क झील पर बनाई गई है. मैं सरकार को चुनौती दे रहा हूं कि वह समाधि को ध्वस्त करे. क्या आपके पास ऐसा करने की हिम्मत है? उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यह सरकार है जिसने टैंक बुंड पर अतिक्रमण किया और झील के किनारे जीएचएमसी कार्यालय बनाया.

अकबरुद्दीन एआईएमआईएम प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई हैं. उन्होंने कहा कि सरकारें झीलों और टैंकों की रक्षा करने में विफल रही हैं. इसके साथ ही अकबरुद्दीन ने यह भी कहा कि गरीबों को जहां जमीन उपलब्ध हो सकी, वहां उन्होंने खरीदी और इसके लिए उन्हें दोषी नहीं ठहराया जा सकता. शहर में हाल ही में आई बाढ़ का जिक्र करते हुए, उन्होंने कहा कि बाहरी रिंग रोड (ओआरआर) और अन्य निर्माण की वजह से मुसी नदी में पानी का प्राकृतिक प्रवाह बाधित हुआ है.

वहीं तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के कार्यकारी अध्यक्ष के.टी. रामाराव ने नरसिम्हा राव और एन.टी. रामाराव की समाधियों पर अकबरुद्दीन ओवैसी की टिप्पणी की निंदा की है. रामाराव ने ट्वीट करते हुए कहा है कि दो दिवंगत नेताओं के बारे में एआईएमआईएम नेता की टिप्पणी अनुचित है. टीआरएस नेता, जो नगरपालिका प्रशासन और शहरी विकास मंत्री भी हैं, उन्होंने कहा कि नरसिम्हा राव और एनटीआर दोनों ने लोगों की सेवा की और तेलुगू लोगों के स्वाभिमान के लिए काम किया है. इसके साथ ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष बंदी संजय कुमार ने भी अकबरुद्दीन ओवैसी की इन टिप्पणियों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

First Published : 25 Nov 2020, 10:24:03 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.