News Nation Logo
Banner
Banner

कृषि कानूनों को लेकर अकाली कार्यकर्ता दिल्ली पुलिस से भिड़े, लगा जाम

कृषि कानूनों के विरोध में शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ता गुरुवार रात से ही राष्ट्रीय राजधानी में पुलिस के साथ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस ने जब अकाली दल के कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की तो वे दिल्ली पुलिस से भिड़ गए. 

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 17 Sep 2021, 01:48:43 PM
Akali dal protest

Akali dal protest (Photo Credit: ANI)

highlights

  • दिल्ली में विरोध-प्रदर्शन की वजह से भीषण जाम
  • दिल्ली पुलिस ने नई दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है.
  • जगह-जगह बैरिकैड्स लगाकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

नई दिल्ली:

कृषि कानूनों के विरोध में शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ता गुरुवार रात से ही राष्ट्रीय राजधानी में पुलिस के साथ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस ने जब अकाली दल के कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की तो वे पुलिस के जवानों से भिड़ गए. हालांकि पुलिस ने जगह-जगह बैरिकैड्स लगाकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है. जबकि पुलिस ने सीमाओं को भी सील कर दिया है. दिल्ली के प्रवेश द्वार पर और संसद की सड़कों पर बैरिकेड्स लगा दिए हैं. दिल्ली पुलिस ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल के नेतृत्व में गुरुद्वारा रकाब गंज से संसद तक शुक्रवार को होने वाले मार्च को कोरोना वायरस की गाइडलाइंस के मद्देनजर अनुमति नहीं दी गई है. इस बीच दिल्ली पुलिस ने नई दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है. 

यह भी पढ़ें : केंद्र ने अकाली दल की सहमति से तैयार किया कृषि कानून : अमरिंदर

 

पंडित श्रीराम शर्मा और बहादुरगढ़ सिटी मेट्रो स्‍टेशन बंद

इस विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम में अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल समेत पंजाब से आए कई किसान नेता और कार्यकर्ता भी इस विरोध मार्च में शामिल होंगे. वहीं आंदोलन को देखते दिल्‍ली मेट्रो ने भी बड़ा कदम उठाया है. डीएमआरसी ने पंडित श्रीराम शर्मा और बहादुरगढ़ सिटी मेट्रो स्‍टेशन बंद कर दिए हैं. विरोध प्रदर्शन से पहले झंडेवालान-पंचकुइयां मार्ग पर वाहनों की आवाजाही भी प्रभावित है. कई जगहों पर जाम जैसी स्थिति भी है. 

कृषि कानूनों का एक साल पूरा होने पर प्रदर्शन

अकाली कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार सुबह कई जगहों पर बैरिकेड्स तोड़ते की कोशिश की. अकाली दल के कार्यकर्ता कृषि कानूनों के पारित होने के एक वर्ष पूरा होने पर शिरोमणि अकाली दल 17 सितंबर को एक काला दिवस के रूप में मना रहा है. विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी द्वारा शुरू की गई '100-दिवसीय गल पंजाब दी यात्रा' के विरोध के बाद अकाली दल किसानों का समर्थन कर पंजाब में वापसी की उम्मीद कर रहे हैं. किसान आंदोलन ने एक साल पूरे होने पर दिल्ली पुलिस की ओर से भी चारों तरफ सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है. 

जगह-जगह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

इस बीच दिल्ली पुलिस डीसीपी दीपक यादव ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल द्वारा आयोजित किए जा रहे विरोध प्रदर्शन के लिए कुछ लोग दिल्ली में जमा हुए हैं. हम उनके नेताओं के साथ बातचीत कर रहे हैं और स्पष्ट रूप से सूचित कर दिया है कि विरोध प्रदर्शन करने की कोई अनुमति नहीं होगी. इस बीच दिल्‍ली पुलिस ने शंकर रोड पर पुख्‍ता सुरक्षा व्यवस्था की है, तो झाड़ोदा कलां बॉर्डर को किसान आंदोलन की वजह से बैरिकेडिंग लगा कर बंद कर दिया है. वहीं ट्रैफिक पुलिस ने गुरुद्वरा रकाबगंज रोड, आरएमएल हॉस्पिटल, जीपीओ, अशोका रोड और बाबा खड़क सिंह मार्ग से भी लोगों को बचने की सलाह दी है. 

सुखबीर बादल ने दी चेतावनी
दिल्‍ली पुलिस द्वारा कई रोड ब्लॉल करने से नाराज शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर बादल ने केंद्र को चेतावनी दी है. बादल ने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को रास्ते में रोका जा रहा है. सरकार हमारे शांति मार्च को रोकने की कोशिश कर रही है. 

First Published : 17 Sep 2021, 10:55:05 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.