News Nation Logo
उत्तर प्रदेश : आज तीन बड़े मामले ज्ञानवापी, श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा और ताजमहल पर सुनवाई प्रधानमंत्री आवास पर कैबिनेट और CCEA की बैठक, कुछ MoU समेत अहम मुद्दों पर हो सकता है फैसला कपिल सिब्बल सपा कार्यालय में अखिलेश यादव के साथ मौजूद, बनेंगे राज्यसभा उम्मीदवार राज्यसभा के लिए कपिल सिब्बल, डिंपल यादव और जावेद अली होंगे समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार- सूत्र पंजाब : ग्रुप सी और डी के पदों के लिए पंजाबी योग्यता टेस्ट कंपलसरी, भगवंत मान सरकार का फैसला मथुरा : जिला अदालत में श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में 31 मई को होगी अगली सुनवाई मुंबई : मोटरसाइकिल पर दोनों सवारों को हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा, 15 दिनों में नियम पर अमल यासीन मलिक की सजा पर बहस पूरी- ऑर्डर रिजर्व, दोपहर बाद विशेष NIA कोर्ट सुनाएगी सजा ज्ञानवापी हिंदुओं को सौंपने-पूजा की मांग वाला नया मामला सिविल जज फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित अयोध्या : 1 जून को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह का शिला पूजन होगा, सीएम योगी होंगे शामिल उत्तराखंड : मौसम सामान्य होने के बाद आज दोबारा सुचारू रूप से शुरू हुई चारधाम यात्रा औरंगजेब की कब्र के बाद अब सतारा में मौजूद अफजल खान के कब्र पर बढ़ाई गई सुरक्षा
Banner

अब AK-203 देंगी दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब, UP के अमेठी में हुआ निर्माण शुरू

अब तक आपने AK-47 राइफल का नाम सुना होगा. क्योंकि भारत में सुरक्षा के लिए यह आम व्यपन है. लेकिन अब भारत रक्षा निर्माण में आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने के प्रयास में है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 04 Dec 2021, 05:57:18 PM
AK  203

file photo (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • सरकार ने पांच लाख AK-203 राइफल्स के उत्पादन की दी मंजूरी 
  • उत्तर प्रदेश का जनपद अमेठी बना हथियार उत्पादन का बड़ा केन्द्र
  •  इसके चलते अमेठी में रोजगार  के भी नए अवसर पैदा होंगे
  •  रक्षा साझेदारी को मजबूत दिशा देगा अमेठी का उत्पादन केन्द्र 

नई दिल्ली :  

अब तक आपने AK-47 राइफल का नाम सुना होगा. क्योंकि भारत में सुरक्षा के लिए यह आम व्यपन है. लेकिन अब भारत रक्षा निर्माण में आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने के प्रयास में है. जिसके चलते उत्तर प्रदेश के अमेठी में  AK-203 बनाने की परिक्रिया शुरु की गई है. जानकारी के मुताबिक केन्द्र सरकार की मंजूरी के बाद पहली खेप में 5 लाख  AK-203 राइफल्स का निर्माण शुरु कर दिया गया है. आपको बता दें कि यह रक्षा अधिग्रहण में खरीद (वैश्विक) से मेक इन इंडिया में लगातार बढ़ते प्रतिमान को दर्शाता है.  

यह भी पढ़ें : PF खाता धारकों को मिलेंगे एक लाख रुपए, EPFO ने किया नियमों मे ये बदलाव

7.62 X 39mm कैलिबर AK-203 राइफल्स तीन दशक पहले शामिल इन-सर्विस इंसास राइफल की जगह लेगी. AK-203 असॉल्ट राइफल्स, 300 मीटर की प्रभावी रेंज के साथ, हल्के वजन, मजबूत और सिद्ध तकनीक के साथ आधुनिक असॉल्ट राइफल्स का उपयोग करने में आसान हैं. इससे जहां एक ओर भारतीय सेना की ताकत बढ़ेगी. वहीं आंतरिक सुरक्षा भी मजबूत होगी. सरकार का मानना है कि अब देश में ही ज्यादातर व्यपन का उत्पादन कराया जाएगा. ताकि मेक इन इंडिया को बल मिल सके.
 
इस परियोजना को इंडो-रशियन राइफल्स प्राइवेट लिमिटेड (IRRPL) नामक एक विशेष उद्देश्य संयुक्त उद्यम द्वारा कार्यान्वित किया जाएगा. परियोजना से युवाओं को रोजगार भी मिलेगा. एक आंकड़े के मुताबिक सीधे तौर पर AK-203 के उत्पादन से लगभग एक लाख नए रोजगार पैदा होंगे. साथ ही स्थानीय लोगों को भी रोजगार के अवसर मिलेंगे. रक्षा एक्सपर्ट के मुताबिक यह उत्पादन रूस समझौते को भी मजबूती प्रदान करेगा. क्योंकि भारत ने हाल ही में रूस से रक्षा समझोता किया है.

First Published : 04 Dec 2021, 05:57:18 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.