News Nation Logo
Banner

एयर इंडिया का सर्वर हैक, यात्रियों की पसर्नल जानकारी चोरी

सरकारी एयरलाइंस एयर इंडिया का सर्वर हैक होने का मामला सामने आया है. खबर है कि एयर इंडिया के यात्रियों का डाटा लीक हो गया है. इसके डाटा सेंटर पर साइबर सिक्योरिटी का अटैक हुआ था. इसके तहत डाटा चोरी हुआ है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 21 May 2021, 10:36:21 PM
air india

एयर इंडिया का सर्वर हैक, यात्रियों की पसर्नल जानकारी चोरी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

सरकारी एयरलाइंस एयर इंडिया का सर्वर हैक होने का मामला सामने आया है. खबर है कि एयर इंडिया के यात्रियों का डाटा लीक हो गया है. इसके डाटा सेंटर पर साइबर सिक्योरिटी का अटैक हुआ था. इसके तहत डाटा चोरी हुआ है. इसी साल फरवरी में यह हमला हुआ था. एयर इंडिया ने अपनी वेबसाइट पर इसकी सूचना दी है. कंपनी का कहना है कि इस साइबर सिक्योरिटी अटैक में यात्रियों की पर्सनल जानकारी चुराई गई है. इसमें करीब 45 लाख यात्रियों का डाटा चुराया गया है. उसके यात्रियों के साथ यह पूरे वैश्विक लेवल पर हुआ है. साथ ही क्रेडिट कार्ड का भी डिटेल चोरी हुआ है.

एयर इंडिया के पैसेंजर सर्विस सिस्टम पर 26 अगस्त 2011 से 3 फ़रवरी 2021 के बीच रजिस्टर हुए विश्व भर के 45 लाख यात्रियों के डेटा पर साइबर अटैक हुआ है. एयर इंडिया के अनुसार उनके सीता नाम के इस पैसेंजर सर्विस सिस्टम से चुनिंदा लोगों का डेटा लीक हुआ है. लेकिन इस साइबर अटैक से 45 लाख यात्रियों का डेटा की सुरक्षा प्रभावित हुई है. एयर इंडिया को इसकी पहली सूचना 25 फ़रवरी 21 को मिली. 

क्या क्या जानकारियां लीक हुई?

यात्रियों का जो पर्सनल डेटा लीक हुआ है उसमें यात्रियों का नाम, जन्म तारीख़, मोबाइल नम्बर, पता, पासपोर्ट नम्बर, टिकट की जानकरियाँ, स्टार एलायंस और एयर इंडिया के फ़्रीक्वेंट फ़्लायरों का डेटा और क्रेडिट कार्ड का डेटा भी शामिल है. 

एयर इंडिया ने इस मामले पर क्या कहा है?

एयर इंडिया ने सफ़ाई देते हुए कहा है कि यात्रियों के क्रेडिट कार्ड डेटा के साथ उनका सीवीवी नम्बर या सीवीसी नम्बर लीक नहीं हुआ है. साथ ही फ़्रीक्वेंट फ़्लायर्स के पासवर्ड का डेटा भी सुरक्षित है.

हालांकि, एयर इंडिया ने कहा कि क्रेडिट कार्ड का डाटा चोरी हुआ है, लेकिन इसमें सीवीवी या सीवीसी नंबर चोरी नहीं हो पाए हैं. कार्ड के पीछे सीवीवी नंबर तीन अंक में होता है, जिसे पेमेंट के लिए डालना जरूरी होता है. SITA PSS से यह डाटा चोरी हुआ है जो डाटा प्रोसेसर का काम यात्रियों की सेवाओं के लिए करता है. यही डाटा की स्टोरिंग और प्रोसेसिंग के लिए जिम्मेदार है. एयर इंडिया ने आगे कहा कि इस मामले में उसे पहली बार 25 फरवरी 2021 को जानकारी दी गई. इसके बाद 25 मार्च और 5 अप्रैल 2021 को सूचना दी गई है.

First Published : 21 May 2021, 09:56:15 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो