News Nation Logo
Banner

आपके पास स्वास्थ मंत्री के OSD की सिफारिश है तो AIIMS का VIP काउंटर करेगा आपका इंतज़ार

एम्स के सर्कुलर के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री से जुड़े यह विशेष अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि किसी डॉक्टर की ओर से आई कोई अनुशंसा वीआईपी है या नहीं।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar | Updated on: 09 Mar 2017, 01:59:18 PM

नई दिल्ली:

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने एक 'नया काउंटर' खोला है जहां उन लोगों को खास तवज्जो दी जाएगी जो किसी वीआईपी पैरवी या फिर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के लिए तैनात ऑफिसर्स ऑन स्पेशल ड्यूटी (OSD) की ओर से आते हैं। बता दें कि नड्डा एम्स के प्रेसिडेंट भी हैं।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक एम्स की ओर से 23 फरवरी को जारी एक सर्कुलर में कहा गया है कि प्रेसिडेंट के ओएसडी की चिंताओं को ध्यान में रखते हुए या फिर सांसदों की पैरवी से आने वाले मरीजों के लिए एक नया काउंटर 1 मार्च से शुरू हो जाएगा।

साथ ही इस सर्कुलर में कहा गया है कि यह नया काउंटर खास तौर पर केवल प्रेसिडेंट के विशेष अधिकारियों, एम्स और सांसदों की ओर से आए वीआईपी पैरवी के लिए काम करेगा।

इस सर्कुलर के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री से जुड़े यह विशेष अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि किसी डॉक्टर की ओर से आई कोई अनुशंसा वीआईपी है या नहीं। इसके अलावा डायरेक्टर, मेडिकल सुप्रिटेंडेंट और सीनियर आर्थिक सलाहकार भी यह फैसला ले सकेंगे कि कोई अनुशंसा वीआईपी है या नहीं।

यह भी पढ़ें: बजट 2017: झारखंड और गुजरात को नए AIIMS की सौगात

इससे पहले भी एम्स में वीआईपी पैरवी आती रही है लेकिन इनके लिए कोई विशेष काउंटर नहीं था। अब हालांकि, राजकुमार अमृत कौर ओपीडी भवन में यह नया काउंटर होगा जो केवल खास अनुशंसा पर एक्शन लेगा।

बता दें कि औसतन हर दिन 10 हजार मरीज एम्स के ओपीडी काउंटर पर आते हैं। ओपीडी के लिए पंजीकरण सुबह 11 बजे बंद हो जाता है लेकिन वैसे मरीज जो एक विभाग से दूसरे विभाग रेफर किए जाते हैं, उन्हें डॉक्टर से परामर्श के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होता है। लेकिन नए काउंटर के खुलने के बाद वीआईपी मरीज ओपीडी खुले होने तक किसी भी समय डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं। साथ ही अगर किसी वीआईपी मरीज को अगर एक विभाग से दूसरे विभाग रेफर किया जाता है तो भी उन्हें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: प्रदूषण के कारण हर साल 1.7 मिलियन बच्चों की होती है मौत: डब्ल्यूएचओ

First Published : 09 Mar 2017, 09:08:00 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Aiims Health Minister