News Nation Logo
Banner

सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने जलाईं कृषि कानून की प्रतियां

कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों का आंदोलन आज 49वें दिन में प्रवेश कर गया है. दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान डेरा डाले बैठे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 13 Jan 2021, 03:24:50 PM
Kisan Andolan

किसान आंदोलन (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों का आंदोलन आज 49वें दिन में प्रवेश कर गया है. दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान डेरा डाले बैठे हैं. वह इन तीनों कानूनों को रद्द किए जाने की मांग पर अड़े हुए हैं. इससे नीचे वह सरकार के किसी प्रस्ताव को मानने को तैयार नहीं हैं. उधर, सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल इन तीनों कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगा दी है और साथ ही इस मसले को सुलझाने के लिए 4 सदस्यीय कमेटी बनाई है. लेकिन किसान इस कमेटी का भी विरोध कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि कमेटी में शामिल सभी चारों सदस्य नए कृषि कानून के पैरोकार है.

सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने कृषि कानून की प्रतियां जलाईं.


भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि आंदोलन में कोई देश विरोधी बातें कर रहा है तो सरकार उसे गिरफ़्तार करे. कृषि क़ानून कैसे ख़त्म हो सरकार इस पर काम करे. सरकार ने 10 साल पुराने ट्रैक्टर पर बैन लगाया है तो हम 10 साल पुराने ट्रैक्टर को दिल्ली की सड़कों पर चला कर दिखाएंगे. 


चिल्ला बॉर्डर पर किसानों ने तीनों कृषि बिल की प्रतियां जलाकर लोहड़ी मनाई. किसानों का कहना है कि यह तो अभी शुरूआत है, हम 26 जनवरी की परेड भी करके जाएंगे.

किसान आंदोलन के चलते तीसरी तिमाही में देश में 70,000 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है. पीएचडी चैंबर ने इसकी जानकारी दी है.

कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने लोहड़ी पर तीन कानूनों की प्रतियां जलाई.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने एक घन्टे तक बैठक की. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम के साथ हुई बैठक में किसान आंदोलन पर भी चर्चा हुई. बैठक के बाद उप मुख्यमंत्री सीधे चंडीगढ़ के लिए रवाना हो गए हैं.

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि जो कमेटी बनाई गई है, निश्चित रूप से आने वाले समय में सबसे निष्पक्ष राय लेगी. कमेटी किसान यूनियन के लोगों से और अन्य विशेषज्ञों से भी राय लेगी और उसके बाद निर्णय देगी.

कृषि कानूनों को लेकर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला प्रधानमंत्री मोदी से मिलने पहुंचे हैं.


कृषि कानूनों और किसानों के विषय पर हरियाणा की उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे. इस दौरान टेक्सटाइल हब, एयरपोर्ट, ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर, रेल मार्गों पर भी बात होगी.


दिल्ली में पड़ रही कड़ाके की ठंड में भी किसानों के होंसले बुलंद हैं. हाड़ कंपाने वाली सर्दी में किसानों का आंदोलन लगातार जारी है.

आज केंद्रीय कैबिनेट की अहम मीटिंग है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीनों कृषि कानूनों पर रोक लगाने के बाद अब आगे सरकार की रणनीति क्या होगी, इस पर सरकार अपनी आगे की रणनीति तय करेगी.

डेढ़ महीने से ज्यादा वक्त से दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसान आज तीन कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर लोहड़ी का त्योहार मनाएंगे.

केंद्र सरकार ने किसानों से प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ उठाने की अपील की है. मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी स्कीम, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) के कार्यान्वयन के पांच साल पूरे होने पर सरकार ने देश के किसानों से आग्रह किया कि वे संकट के समय में आत्मनिर्भर बनने के लिए योजना का लाभ उठाएं और एक आत्मनिर्भर किसान तैयार करने का समर्थन करें.

First Published : 13 Jan 2021, 06:47:26 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.