News Nation Logo

गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे संजय राउत, राकेश टिकैत से हुई किसान आंदोलन पर चर्चा

कृषि कानूनों (Agriculture Law) के विरोध में किसानों का आंदोलन (Farmer Protest) 2 फरवरी को 69वें दिन में प्रवेश कर गया है. किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस आज संसद में इस मुद्दे को उठा सकती है.  

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 02 Feb 2021, 06:27:41 PM
sanjay Raut

दिल्ली हिंसा में गिरफ्तार लोगों पर HC भी सख्त, सुनवाई से इनकार (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

कृषि कानूनों (Agriculture Law) के विरोध में किसानों का आंदोलन (Farmer Protest) 2 फरवरी को 69वें दिन में प्रवेश कर गया है. किसान तीनों कानूनों की वापसी की मांग पर अड़े हुए हैं. कांग्रेस आज इस मुद्दे को संसद में उठा सकती है. कांग्रेस ने लोकसभा और राज्यसभा में नोटिस दिया है. उधर किसान संगठनों ने भी 6 फरवरी को देशभर में तीन घंटे के चक्का जाम का ऐलान कर दिया है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कृषि कानूनों को लेकर आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है.  गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर धरने पर बैठे किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने सरकार के बातचीत के लिए शर्त रखी है कि जब तक सरकार गिरफ्तार किए गए किसानों को नहीं छोड़ती है, तब तक सरकार के साथ बातचीत नहीं की जाएगी.  

 

 

 

LIVE TV NN

NS

NS

सरकार सदन के अंदर और बाहर दोनों जगह किसान कानून पर चर्चा के लिए तैयार है नरेंद्र सिंह तोमर ने सदन आश्वासन दिया. लोकसभा की कार्यवाही 7 बजे तक के लिए स्थगित. विपक्ष का हंगामा जारी.

हरपाल चीमा ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री नहीं मिलते हैं तो सभी पार्टी उनके घर के बाहर धरना दें लेकिन मुख्यमंत्री ने यह बात नही मानी. दिल्ली बॉर्डर पर बैठे किसानों को पंजाब सिक्यूरिटी मुहैया करवाये लेकिन सरकार ने यह बात भी नही मानी, इसलिये हमने वाक आउट किया.

पंजाब आम आदमी पार्टी के नेता और नेता विपक्ष हरपाल चीमा ने कहा कि हमने ऑल पार्टी मीटिंग का बहिष्कार किया है. हमारी मांगों को नहीं माना गया. इसके लिये हमने बहिष्कार किया है. एक निश्चित समय रखा जिसमें प्रधानमंत्री से मिलें.

शिवसेना सांसद संजय राउत गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे हैं. उन्होंने किसान नेता राकेश टिकैत से मुलाकात कर आंदोलन को अपना समर्थन दिया.


भगवंत मान ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री को दिल्ली मे प्रधानमंत्री से मिलना चाहिए. ऑल पार्टी मीटिंग में आंदोलनकारियों पर किये केस वापिस करने और वकीलों का पैनल बनाने पर प्रस्ताव पास किया गया साथ ही सभी पार्टियां दिल्ली जाकर गृह मंत्री से भी मिलें 

आल पार्टी के बाद आप नेता भगवंत मान ने कहा कि तीनों कृषि बिलों को वापिस करे सरकार. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि किसान दिल्ली जाए लेकिन खुद पंजाब के मुख्यमंत्री नहीं गए. पंजाब के कई नौजवान गायब हैं लेकिन मुख्यमंत्री को कोई चिंता नहीं है. 

दिल्ली हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करने से इंकार करते हुए कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों के खिलाफ लगे आरोपों को जाने बिना रिहा करने का आदेश नहीं दिया जा सकता है. याचिकाकर्ता ने घरवालों से कोई सम्पर्क नहीं किया, इसकी कोई जानकारी वाला हलफनामे भी दखिल नहीं किया गया है. 

याचिकाकर्ता का कहना है कि वो गांवों से ताल्लुक रखते हैं. 26 और 27 जनवरी से बहुत सारे लोग गायब हैं. अगर उनको गिरफ्तार भी किया गया है तो अरेस्ट मेमो होना चाहिए, रिश्तेदारों को बताया जाना चाहिए. पुलिस दावा कर रही है कि 44 एफआईआर में 122 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन मीडिया में उनकी संख्या अलग है.

26 जनवरी और उसके बाद सिंघु, गाजीपुर, टिकरी बार्डर के पास से अवैध तरीक़े से गिरफ्तार किए गए और हिरासत में लिए गए लोगों को रिहा करने की मांग पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सुनवाई से इनकार किया. 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शुरू की सर्वदलीय बैठक, नहीं पहुंचे बीजेपी नेता

शिवसेना के राज्यसभा सांसद और प्रवक्ता संजय राउत मंगलवार दोपहर को एक बजे गाजीपुर पहुंचेंगे। इसकी जानकारी खुद उन्होंने ट्वीट करके दी. संजय राउत ने कहा, 'किसान आंदोलन जिंदाबाद. मैं आज आंदोलनरत किसानों से मिलने के लिए दोपहर एक बजे गाजीपुर जाऊंगा. जय जवान, जय किसान.'


नेशनल हाईवे-9 पर किसान आंदोलन के चलते इंदिरापुरम और गाजियाबाद के चारों तरफ लंबा जाम. सुबह-सुबह नौकरी के लिए जाने वाले लोग रोजाना हो रहे हैं परेशान

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के मुद्दे पर चर्चा के लिए कांग्रेस ने संसद के दोनों सदनों में नोटिस दिया है.

किसान आंदोलन का 69वां दिन हैं. किसान अब भी दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर, टीकरी बॉर्डर और सिंघु बॉर्डर पर धरने पर बैठे हैं.

First Published : 02 Feb 2021, 07:51:42 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो