News Nation Logo

LIVE : राजस्थान में राहुल गांधी की किसान महापंचायत, कृषि कानूनों पर उठाए सवाल Live

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों का आंदोलन 79वें दिन में प्रवेश कर गया है. दिल्ली की अलग अलग सीमाओं पर किसान बैठे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 12 Feb 2021, 03:14:03 PM
rahul gandhi

राहुल गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों का आंदोलन 79वें दिन में प्रवेश कर गया है. दिल्ली की अलग अलग सीमाओं पर किसान बैठे हैं. ऐसे में दिल्ली से सटे 5 बॉर्डर पर आवाजाही बंद है और ये सब इसलिए कि तीनों कृषि कानून वापस और एमएसपी पर कानून बने. जबकि सरकार और पीएम मोदी के बार बार कहने पर कि एमएसपी और APMC खत्म नहीं होने जा रही है, फिर भी आंदोलन खत्म नहीं हो रहा है. किसानों के मसले पर राजनीति भी जमकर हो रही है. विपक्षी दल इस मुद्दे पर किसानों का समर्थन करते हुए सरकार को घेरने में लगे हुए हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

दूसरा कानून कहता है कि कोई भी उद्योगपति जितना चाहे सब्जी, अनाज, फल कितने भी समय के लिए स्टोर करके रख सकता है. मतलब ये व्यक्ति दाम को नियंत्रित कर पाएगा. जैसे ही ये दूसरा कानून लागू होगा हिंदुस्तान में अरबपति लोगों द्वारा जमाखोरी शुरू हो जाएगी- राहुल गांधी

पहला कृषि कानून कहता है कि कोई भी बड़ा व्यवसायी देश में कहीं भी किसी भी किसान से जितना चाहे अनाज खरीद सकता है. तब मंडी की क्या जरूरत है? इसलिए पहला कानून मंडी को खत्म करने का कानून है- राहुल गांधी

राजस्थान के हनुमानगढ़ में 'किसान महापंचायत' को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की कोशिश रही है कि खेती के व्यवसाय को हम कभी किसी एक व्यक्ति के हाथ में न जाने दें. यह हमारा लक्ष्य रहा है कि यह धन्धा हिंदुस्तान के 40 फीसदी लोगों का धन्धा ही रहे. 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी दो दिवसीय दौरे पर राजस्थान पहुंच गए हैं. यहां वह कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए कई सभाओं को संबोधित करेंगे.

यूपी दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन के बीच आज किसान नेता राकेश टिकैत ने खास बातचीत में कहा कि आंदोलन को लेकर जो भी रणनीति बनती है, वह सिंघु बॉर्डर पर जत्थेबंधियां जो फैसला लेती हैं, वही मान्य होता है. हमारे पंच भी वही है, हमारा मंथ भी वही हैं. प्रॉपर्टी पर पूछे गए सवाल पर राकेश टिकैत ने कहा कि सभी किसानों की जमीन उनकी है. पेट्रोल पंप भी उनके हैं, जिस पेट्रोल पंप पर जाते हैं, पेट्रोल मिल जाता है.

मैं कांग्रेस और विपक्षी नेताओं को यह दिखाने के लिए चुनौती देता हूं कि यह कहां लिखा है कि मंडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली समाप्त हो जाएगी. हम भारत को आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध हैं- अनुराग ठाकुर

राज्यसभा में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि बजट में 65,000 करोड़ का एक बड़ा हिस्सा पीएम किसान योजना में दिया गया है. विपक्षी कहते हैं कि कृषि कानून काला कानून है जिसकी नजर ही काली होगी तो सोच भी वैसी ही होगी. किसानों की आय दोगुनी करने के लिए ही इस कानून को लाया गया है, हम किसानों की आय दोगुनी करके ही छोड़ेंगे.

सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए बॉर्डर पर सुरक्षाबल की तैनाती जारी है.

किसान नेता राकेश टिकैत आज हरियाणा के बहादुरगढ़ में किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे.

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हमारी आगे की रणनीति होगी कि अनाज को कम कीमत पर नहीं बिकने देंगे. जो MSP है, उससे कम पर खरीद नहीं होगी. किसान मोर्चे ने तय कर लिया है कि व्यापारी भूख पर कीमतें तय नहीं करेगा. आम जनता की अनाज और रोटी तिजोरी में बंद नहीं होगी. 

संयुक्त किसान मोर्चा तीन कानूनों को रद्द करने और MSP को कानूनी मान्यता देने की मांगों पर कायम है.

राजस्थान में संयुक्त मोर्चा ने टोल बंदी का ऐलान किया, लेकिन इस ऐलान पर संयुक्त मोर्चा में दरार पड़ती नजर आ रही है. किसान महापंचायत ने खुद को टोल बंदी से अलग कर लिया है. वही संयुक्त मोर्चा के एक और नेता राजस्थान जाट महासभा के अध्यक्ष राजाराम मील भी टोल बंदी को लेकर सहमत नहीं हैं.

किसानों का आंदोलन तेज हो रहा है. आज संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से राजस्थान के सभी रोड टोल प्लाजा को टोल मुक्त कराया जाएगा.

First Published : 12 Feb 2021, 06:40:50 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.