News Nation Logo
Banner

गडकरी के लेटर-बम पर शिवसेना ने दागे सवालों के ब्रह्मास्त्र, राजनीति गर्माई

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के सीएम उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र के सार्वजनिक होने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति गर्मा गई है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 17 Aug 2021, 08:02:08 AM
Udhav Gadkari

उद्धव ठाकरे ने दिए हैं जांच के आदेश. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • शिवसैनिकों पर नेशनल हाईवे के काम में अड़चन डालने का आरोप
  • सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र के बाद महाराष्ट्र की राजनीति गर्माई
  • शिवसेना के नेता ने गडकरी के परिवार पर ही अंगुली उठाई

मुंबई:

केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को शिवसैनिकों को लेकर की गई शिकायत के साथ लिखे गए पत्र (लेटर बम) के कुछ दिनों बाद अब शिवसेना ने पूरी ताकत से पलटवार किया है. दरअसल गडकरी ने पत्र में शिवसैनिकों पर नेशनल हाईवे के काम में अड़चन डालने का गंभीर आरोप लगाया है. गडकरी ने सीएम से जल्द दखल देने की मांग करते हुए काम और रोकने की चेतावनी भी दे डाली है. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के सीएम उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र के सार्वजनिक होने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति गर्मा गई है. वाशिम जैसे कुछ स्थानों पर शिवसेना नेताओं और कार्यकर्ताओं पर ठेकेदारों या अधिकारियों को धमकी देने, तर्कहीन मांग करने का आरोप लगाते हुए गडकरी ने कहा कि राज्य में राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं पर काम प्रभावित हो रहा है.

गडकरी ने दी परियोजनाएं बंद करने की धमकी
नागपुर के रहने वाले भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय मंत्री ने वाशिम जिले में चल रहे कार्यों को रोकने की धमकी दी और यहां तक कि अगर इस तरह के कृत्यों पर लगाम नहीं लगाई गई, तो महाराष्ट्र से भविष्य की सभी राजमार्ग परियोजनाओं को बंद कर दिया जाएगा. गडकरी आमतौर पर मृदुभाषी होने के लिए जाने जाते हैं. उनके इस पत्र के कठोर लहजे से आहत ठाकरे ने तुरंत गृह मंत्री दिलीप वालसे-पाटिल से कहा कि वह पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) संजय पांडे को इस मामले की जांच करने का निर्देश दें.

शिवसेना ने किया पलटवार
इसके साथ ही शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त किशोर तिवारी ने गडकरी के लेटर बम के बदले अब सवालों की एक मिसाइल दागी है और उनकी ओर से पूछा गया है कि गडकरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने पहले के लिखे गए उस पत्र का प्रचार क्यों नहीं किया, जिसमें उन्होंने सड़क ठेकेदारों से 'जबरन वसूली' की मांग करते हुए पूरे भारत के भाजपा के राजनीतिक और निर्वाचित नेताओं का नाम लिया था. 

वाशिम खंड को लेकर सीएम को लिखा गडकरी ने पत्र
गडकरी की शिकायत मुख्य रूप से चल रही राजमार्ग परियोजनाओं के वाशिम-अकोला खंड से संबंधित है, जहां उन्होंने कहा कि शिवसेना वर्कर्स ने सड़क निर्माण मशीनों को जला दिया है. इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि अगर शिवसेना के नेता और निर्वाचित प्रतिनिधि इस तरह के व्यवहार को दोहराते हैं तो परियोजनाओं को जारी रखना मुश्किल होगा. जवाब में वाशिम-यवतमाल से शिवसेना सांसद भावना गवली-पाटिल ने कहा कि गडकरी को गुमराह किया गया है और उन्होंने बताया कि उनके निर्वाचन क्षेत्र में लगभग 90 प्रतिशत काम पूरा हो गया है. हालांकि कुछ क्षेत्रों में स्थानीय बाधाएं हैं, जिनका वह पता लगा लेंगी.

गडकरी के परिवार की कंपनियां ले रही लाभः शिवसेना
यह दावा करते हुए कि अधिकांश राजनीतिक दल आकर्षक सड़क अनुबंधों में इस तरह की गतिविधियों में लिप्त हैं, तिवारी ने आरोप लगाया कि मंत्री और उनके परिवार की कंपनियों का भी सभी सड़क और टोल अनुबंधों में हाथ है. उन्होंने कहा कि 2014 से ही कुछ भाजपा नेताओं के प्रति निष्ठा के कारण ठेकेदार रोड-टोल के ठेके हड़प लेते हैं और मोटी कमीशन के लिए दिवालिया कंपनियों या ब्लैक लिस्टेड संस्थाओं को भी उप-ठेके देते हैं, लेकिन घटिया गुणवत्ता की शिकायतों के बाद, कई परियोजनाओं को रोक दिया गया.

पवार ने की ठेकेदारों पर कार्रवाई की मांग
तिवारी ने गडकरी पर निशाना साधते हुए कहा, मेरे पास आपके समर्थकों की सूची है, यहां तक कि आपकी पिछली और वर्तमान कंपनियों के अलावा अन्य भाजपा राजनीतिक या निर्वाचित नेताओं के अलावा जो सड़क-टोल परियोजनाओं के नापाक सौदों में लगे हुए हैं और बैंकों के माध्यम से जनता के हजारों करोड़ रुपये लूट रहे हैं. क्या आप अपना पत्र पीएम, जनता को देंगे, जैसे कि आपने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को लिखा है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि अगर माहौल खराब रहा तो ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए.

First Published : 17 Aug 2021, 08:02:08 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live IPL 2021 Scores & Results

वीडियो

×