News Nation Logo

महाराष्ट्र के बाद मध्यप्रदेश में भी हो सकता है बड़ा उलटफेर, इन बातों से मिल रही हवा

महाराष्ट्र के बाद अब मध्य प्रदेश के राजनीतिक समीकरण तेजी से बदल रहे हैं. ट्विटर से शुरू हुए इशारे अब हकीकत के रूप में सामने आ रहे हैं. मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 20 विधायकों के लापता होने की खबर सामने आ रही है.

कुलदीप सिंह | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 25 Nov 2019, 04:53:39 PM
ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल:

महाराष्ट्र के बाद अब मध्य प्रदेश के राजनीतिक समीकरण तेजी से बदल रहे हैं. ट्विटर से शुरू हुए इशारे अब हकीकत के रूप में सामने आ रहे हैं. मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 20 विधायकों के लापता होने की खबर सामने आ रही है. सोमवार को मध्य प्रदेश की राजनीति में भी हलचल शुरू हो गई है. सोमवार को मध्य प्रदेश के बड़े कांग्रेस नेता मुख्यमंत्री पद के दावेदार रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश की कैबिनेट मंत्री इमरती देवी के ट्विटर अकाउंट से कांग्रेस और कैबिनेट मंत्री का पद हटाने के बाद से ही कांग्रेस में खलबली मची हुई है. सूत्रों के मुताबिक सभी विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के संपर्क में हैं. हालांकि कांग्रेस का कहना है कि फिलहाल उसका कोई विधायक अलग नहीं है लेकिन राजनीतिक जानकार मध्य प्रदेश के हालात को कांग्रेस के लिए सकारात्मक नहीं मान रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः Big News : मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 20 विधायक लापता!, मची खलबली

सोमवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने ट्विटर अकाउंट से कांग्रेस का नाम हटा लिया है. अभी इस मामले में उनकी ओर से सफाई आई ही थी कि उनके बाद मध्य प्रदेश की कैबिनेट मंत्री इमरती देवी ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से अपना कैबिनेट मंत्री का स्टेटस हटा लिया है. इमरती देवी को ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा समर्थक मना जाता है. अब 20 विधायकों के लापता होने की खबर से कांग्रेस खेमे में खलबली मची हुई है. माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक कमलनाथ सरकार से बगावत कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः सिंधिया के बाद MP की कैबिनेट मंत्री ने भी ट्विटर से हटाया कैबिनेट मंत्री पद 

बताया जा रहा है कि हाल में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की थी. इससे पहले भी वह कई बार प्रधानमंत्री की तारीफ कर चुके हैं. बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनाए जाने के बाद से ही वह कांग्रेस आलाकमान से नाराज चल रहे हैं. मध्य प्रदेश के तेजी से बदलते हालात के बाद कांग्रेस को राज्य में सबकुछ सही नजर नहीं आ रहा है. दरअसल मध्य प्रदेश में बीजेपी के पास बहुमत के आंकड़े से सिर्फ 9 विधायक कम हैं. वहीं मध्य प्रदेश में चार निर्दलीय विधायक भी हैं. बीजेपी के कई नेता मध्य प्रदेश में जल्द सरकार गिरने की भविष्यवाणी भी कर चुके हैं.

यह भी पढ़ेंः मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी का निधन, पीएम मोदी ने कहा-विकास में जोशी ने दिया अहम योगदान 

किस पार्टी के कितने विधायक
  

पार्टी सीट
कांग्रेस 115
बीजेपी 107
बसपा 2
सपा 1
निर्दलीय 4
नॉमिनेटेड 1
कुल सीट 231

First Published : 25 Nov 2019, 04:53:39 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.