News Nation Logo

ईरानी कमांडर सुलेमानी की हत्या से ट्रंप-पोंपियो और आईएसआईएस ही खुश, ईरान के विदेश मंत्री का आरोप

आखिर सुलेमानी की मौत का जश्म कौन मना रहा है? आम लोग नहीं बल्कि ट्रंप-पोंपियो और आईएसआईएस ही मना रहे हैं.

By : Nihar Saxena | Updated on: 15 Jan 2020, 02:16:02 PM
'रायसिना डायलॉग्स' में ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ के कड़वे बोल.

'रायसिना डायलॉग्स' में ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ के कड़वे बोल. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • ईरान के विदेश मंत्री कासिम सुलेमानी की हत्या पर विदेश मंत्री का ट्रंप पर हमला.
  • ट्रंप के आदेश पर सुलेमानी को मार गिराने के बाद सबसे ज्यादा आईएसआईएस खुश.
  • आईएसआईएस के खिलाफ कासिम सुलेमानी ही थे एकमात्र प्रभावी ताकत.

नई दिल्ली:

ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी को मार गिराने पर ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने पूरी तरह से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोंपियो की कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि कुद्स फोर्स के सर्वेसर्वा को मारने के बाद सबसे ज्यादा अगर कोई खुश है, तो वह है आईएसएस और ट्रंप-पोपिंयो. उन्होंने साफतौर पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप पर निशाना साधते हुए कहा कि दिक्कत यह है कि वह हर चीज को अपने नजरिये से देखते हैं. ट्रंप को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि क्षेत्र के लोगों को क्या नजरिया है?

यह भी पढ़ेंः निर्भया केसः 22 जनवरी को दोषियों को फांसी देना संभव नहीं, दिल्ली सरकार ने कोर्ट में कहा

सुलेमानी को पसंद नहीं करता था अमेरिका
नई दिल्ली में 'रायसिना डायलॉग्स' में बोलते हुए जवाद जरीफ ने कहा कि अमेरिका वास्तव में जनरल कासिम सुलेमानी को पसंद नहीं करता था. इसके बावजूद कि आईएसआईएस के खिलाफ वैश्विक मुहिम में कासिम सुलेमानी एक अकेली सेना के रूप में प्रभावी थे. अगर आपको मेरी बात का यकीन नहीं आता है, तो देख लें कि जनरल की मौत को वे खुशी मना रहे हैं. आखिर सुलेमानी की मौत का जश्म कौन मना रहा है? आम लोग नहीं बल्कि ट्रंप-पोंपियो और आईएसआईएस ही मना रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के जिला कमांडर हारुन हाफज को मार गिराया

दुनिया साथ नहीं अमेरिका के
जनरल कासिम सुलेमानी को ड्रोन हमले में मार गिराने के बाद अमेरिका के विरोध में वैश्विक स्तर पर हुए विरोध-प्रदर्शन का जिक्र करते हुए ईरान के विदेश मंत्री जरीफ ने कहा कि जनरल सुलेमानी की शव यात्रा में सिर्फ तेहरान में ही एक करोड़ से अधिक जनसैलाब सड़कों पर था. इसके अलावा इराक, भारत और रूस यहां तक कि अमेरिका के भी कुछ शहरों में कासिम सुलेमानी की मौत का गम मनाया गया. लोगों ने जनरल को मार गिराने के लिए अमेरिका के निर्णय की कड़े स्वर में निंदा की.

अमेरिका के लिए उसका नजरिया ही महत्वपूर्ण
इसके साथ ही उन्होंने हालिया हफ्तों के घटनाक्रम को दुखद बताते हुए एक बार फिर अमेरिका पर हमला बोला. ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने कहा कि गुजाश्ता हफ्तों का कुल घटनाक्रम अमेरिका की एक गंभीर समस्या को ही सामने ला रहा है. अमेरिका हर चीज को अपने नजरिये से देखता है. उसे क्षेत्र संबंधी रवैया या वहां रह रहे लोगों के नजरिये से कोई लेना-देना नहीं रहता. किसी भी क्षेत्र को अस्थिर करने के लिए अमेरिका का यही रवैया या नजरिया बड़े पैमाने पर जिम्मेदार है.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 15 Jan 2020, 02:16:02 PM