News Nation Logo
दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया CM Channi के गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी पहुंचने पर अध्यापकों का ज़ोरदार प्रदर्शन अध्यापकों की मांग - 7वें पे कमीशन की सिफारिशें पंजाब हों लागू ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की बाबा साहब आंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस आज. बसपा कर रही बड़ा कार्यक्रम नीट काउंसिलिंग में हो रही देरी के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टर्स आज ठप रखेंगे सेवा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन आज आ रहे भारत. कई समझौतों को देंगे अंतिम रूप पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह आज करेंगे अमित शाह-जेपी नड्डा से मुलाकात.

उरी हमला और भारत का सर्जिकल स्ट्राइक, क्यों याद आ गया करगिल युद्ध

सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय जवानों ने 30 से ज्यादा आतंकियों को ढेर कर दिया

News Nation Bureau | Edited By : Kunal Kaushal | Updated on: 29 Sep 2016, 09:14:53 PM
फाइल फोटो

नई दिल्ली:

बुधवार की रात भारतीय सेना के स्पेशल कमांडो दस्ते ने एलओसी के उसपार करीब दो किलीमीटर अंदर तक घुसकर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में बने 7 आतंकी कैंपो और करीब 35 से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया। लेकिन ये पहली बार नहीं जब पाकिस्तान की तरफ से हुए घुसपैठ का भारतीय सेना ने इतने साहस से जवाब दिया है ।

आज से ठीक 17 साल पहले मई-जून के महीने में देश की सबसे ऊंची सीमाओं में से एक करगिल में पाकिस्तान ने आतंकियों के सहारे भारत के खिलाफ प्रॉक्सी वार शुरू कर दिया था जिसमें प्रत्यक्ष तौर पर पाकिस्तानी सेना भी उनकी मदद कर रही थी लेकिन फिर भी ना सिर्फ देश के सबसे ऊंचे और दुर्गम चौकी पर भारतीय सेना ने फिर से कब्जा जमाया बल्कि हजारों की संख्याओं में घुसपैठियों और पाकिस्तानी सेना के जवानों को भी मार गिराया था।

आखिर क्या हुआ था करगिल में

जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर से लेह को जोड़ने वाले एनएच 1 पर पड़ने वाले सबसे ऊंची चौकियों में से एक टाइगर हिल, तोलोलिंग पर ज्यादा बर्फबारी होने के कारण जब सेना अपना पोस्ट छोड़कर नीचे आ गई थी की तो घुसपैठियों और पाकिस्तानी सेना ने इन चौकियों सहित करगिल पोस्ट पर कब्जा कर लिया था।

जब भारतीय सेना ने इसका विरोध करते हुए उन्हें ललकारा तो पाकिस्तानी सेना और घुसपैठियों ने भारतीय सेना पर हमला कर दिया जिसके जवाब में भारतीय सेना ने भी वायुसेना की मदद से दुश्मनों पर हमला किया और एक महीने के भीतर ही पाकिस्तानी सेना और घुसपैठियों को भारतीय पोस्ट छोड़कर भागने पर मजबूर कर दिया।

इस अघोषित युद्ध में करीब 5000 हजार घुसपैठियों और तीस हजार भारतीय जवानों के बीच मुठभेड़ हुई थी जिसमें हजारों पाकिस्तान सेना के जवान और घुसपैठियों को अपनी जान गंवानी पड़ी।

भारत पाकिस्तान के बीच तीन बार घोषित युद्ध हो चुका है जिसमें तीनों बार पाकिस्तान को भारत से मुंह की खानी पड़ी है लेकिन 1999 में हुए करगिल वार को पाकिस्तानी सेना युद्ध नहीं मानती है फिर भी उसे भारत से हार का ही सामना करना पड़ा और अच्छी खासी संख्या में अपने जवानों को भी खोना पड़ा था। करगिल वार के बाद भारत सरकार ने रक्षा बजट में भारी बढ़ोतरी कर दी थी।

 

First Published : 29 Sep 2016, 03:30:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो