News Nation Logo

गीता के बाद बिहार भाजपा राहुल को रामायण, महाभारत और पुराणों की प्रतियां भी भेजेगी

गीता के बाद बिहार भाजपा राहुल को रामायण, महाभारत और पुराणों की प्रतियां भी भेजेगी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 15 Nov 2021, 09:25:02 PM
After Gita,

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

पटना: बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल द्वारा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी को भेजी गयी श्रीमदभागवत गीता की प्रति सोमवार को भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने पटना से राहुल गांधी के पते पर स्पीड पोस्ट कर भेज दिया।

इस मौके पर भाजपा आईटी सेल प्रमुख मनन कृष्ण, प्रोटोकॉल प्रभारी राजीव मिश्र सहित कई नेता भी उपस्थित रहे।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने कहा कि कल रविवार की छुट्टी के कारण भाजपा प्रदेश अध्यक्ष द्वारा राहुल गांधी को प्रेषित श्री मद्भागवत गीता की प्रति पोस्ट नहीं की जा सकी थी। सोमवार को पोस्ट ऑफिस खुलते ही हमने इसे राहुल गांधी के पते पर भेज दिया है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की व्यस्तता को देखते हुए हमारे प्रदेश अध्यक्ष ने उन्हें गीता की दो प्रतियां भेजी हैं, जिनमें एक संपूर्ण गीता है और दूसरा पॉकेट एडिशन इससे राहुल जी घर और यात्रा करते हुए दोनों समय गीता पाठ का लाभ ले सकें।

भाजपा नेता ने कहा, राहुल जी गीता को पढ़ कर समझ लें तो हम उन्हें रामायण, महाभारत और पुराणों की प्रतियां भी एक-एक करके भेजा जाएगा। इसके साथ-साथ यदि उन्हें संस्कृत और हिंदी जैसी भारतीय भाषाओं का अर्थ समझने में कठिनाई हो तो हम उन्हें इन भाषाओं के शब्दकोश भी भिजवा सकते हैं।

रंजन ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि गीता ऐसा महाग्रंथ है जो दानवों को भी मानव बना देती है और राहुल गांधी को तो सिर्फ झूठ बोलने और राष्ट्र द्रोहियों का समर्थन करने की ही आदत है। उन्होंने गीता को अच्छे से समझ लिया तो वह धर्म और कर्म दोनों का मर्म जान जाएंगे। इससे उन्हें राष्ट्रवाद का महत्व भी समझ में आ जाएगा।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 15 Nov 2021, 09:25:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.