News Nation Logo

कोरोना: पहली बार होने जा रही है नए पेटर्न की सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं

कोरोना: पहली बार होने जा रही है नए पेटर्न की सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 14 Nov 2021, 12:55:01 PM
74 percent

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: 10वीं और 12वीं सीबीएसई बोर्ड के 20 लाख से अधिक छात्र बोर्ड परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं। बोर्ड परीक्षा का पहला चरण इसी महीने 16 और 17 नंवबर से शुरू हो रहा है। 12 वीं की परीक्षाएं 16 और 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं 17 नवंबर से शुरू होंगी। बोर्ड ने इस बार परीक्षाओं के पेटर्न में भी बदलाव किया है।

बोर्ड ने अपनी नीतियों में बदलाव किया है और इसी के तहत अब देश भर के छात्रों के मूल्यांकन के लिए दो बार बोर्ड परीक्षाएं ली जा रहीं हैं। बोर्ड परीक्षाओं का दूसरा चरण अगले वर्ष मार्च अप्रैल में आयोजित किया जाएगा। बोर्ड ने परीक्षाओं के पेटर्न में भी बदलाव किया है।

सीबीएसई के मुताबिक इस बार बोर्ड परीक्षा के छात्रों को 20 मिनट का रीडिंग टाइम दिया जाएगा। पहले यह समय 15 मिनट का होता था। पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं में बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न (एमसीक्यू) होंगे। इनकी अवधि 90 मिनट है।

परीक्षा में प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए चार विकल्प दिए जाएंगे। छात्र इनमें से अपना सही विकल्प चुनकर दिए गए विकल्प के सामने गोला लगा सकते हैं। हालांकि यदि छात्र किसी प्रश्न का उत्तर न देना चाहे तो भी उन्हें गोला लगाना आवश्यक होगा। इसके लिए प्रश्न को खाली छोड़ देने का एक और विकल्प दिया जाएगा जिसे छात्र गोला लगाकर भरेंगे।

प्रसिद्ध शिक्षाविद पीएस कांडपाल के मुताबिक यह व्यवस्था कई अन्य परीक्षाओं में भी की जाती रही है। दरअसल सभी उत्तर पुस्तिकाओं को स्कैन किया जाएगा ऐसे में कोई भी प्रश्न का उत्तर खाली नहीं छोड़ा जा सकता। खाली छोड़ने के विकल्प को भी छात्रों को गोला बनाकर भरना होगा।

दसवीं कक्षा की छात्रा दीप्ति शर्मा के मुताबिक यह अच्छा है कि परीक्षाएं दो चरणों में आयोजित की जा रही हैं। सिलेबस भी 50- 50 प्रतिशत बांटे जाने से परीक्षा का तनाव कम हुआ है। वहीं नई परीक्षा के नए तरीके को लेकर उत्सुकता भी बनी हुई है।

दिल्ली में रहने वाले 12वीं कक्षा के छात्र उमंग अग्रवाल के मुताबिक बोर्ड परीक्षाओं का यह तरीका सभी छात्रों के लिए बिल्कुल नया है, इसलिए मन में कई प्रकार की दुविधा है। लेकिन इन परीक्षाओं को लेकर डर नहीं है।

एक अन्य छात्र संचिता दीक्षित के मुताबिक छात्रों को परीक्षाओं का पैटर्न समझाया गया है। उत्तर देने का तरीका भी बताया गया है, इसके बाद अब केवल एक नए किस्म की परीक्षा में शामिल होने का इंतजार भर है।

सीबीएसई बोर्ड के मुताबिक 10वीं कक्षा के 20 अंकों के आंतरिक मूल्यांकन को भी दस-दस अंकों में विभाजित किया जा चुका है। वहीं 12वीं कक्षा के लिए इसे 15- 15 अंकों के दो हिस्सों में बांटा गया है।

बोर्ड ने अतिरिक्त आंतरिक मूल्यांकन और व्यावहारिक आधारित पाठ्यक्रम पर काम किया है। पिछले दो साल से कोरोना की वजह से बोर्ड परीक्षा नहीं होने के बाद नीति में बदलाव आया है।

इस बार छात्रों को अपनी पसंद के शहर में बोर्ड परीक्षाएं देने का अवसर भी प्रदान किया गया है। दरअसल कोरोना के कारण हजारों छात्र विस्थापित हुए हैं। इनमें से कई छात्र अभी भी अपने पैतृक स्थान पर रह रहे हैं जबकि उनका स्कूल किसी दूसरे स्थान पर है। ऐसे में यह छात्र अपने नजदीकी स्कूल में परीक्षाएं दे सकेंगे।

परीक्षा के दौरान छात्र कोरोना संक्रमित न हो इसकी भी विशेष व्यवस्था की गई है। सीबीएसई के मुताबिक सभी परीक्षा केंद्रों में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाएगा। एक केंद्र में ज्यादा से ज्यादा 350 छात्र ही परीक्षा दे सकते हैं। छात्रों के बीच छह फीट की दूरी रखी जाएगी। परीक्षा केंद्र में प्रत्येक छात्र व मौजूद शिक्षक को अनिवार्य तौर पर मास्क पहनना होगा।

सीबीएसई ने दसवीं और बारहवीं कक्षा के पहले चरण की बोर्ड परीक्षा की जो डेट शीट जारी की है उसके मुताबिक माइनर परीक्षा 16 व 17 नवंबर से शुरू हो रही हैं। वहीं मेजर विषयों की बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा 1 दिसंबर से शुरू होगी और 22 दिसंबर को समाप्त होगी। बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए पहली परीक्षा समाजशास्त्र और अंतिम परीक्षा गृह विज्ञान है। यह परीक्षाएं सुबह 11 बजकर 30 मिनट से दोपहर 1 बजे तक होंगी।

दसवीं कक्षा की मेजर विषयों की बोर्ड परीक्षाओं का पहला चरण 30 नवंबर से शुरू होंगी और यह परीक्षाएं 11 दिसंबर को समाप्त होंगी। दसवीं कक्षा के लिए पहली परीक्षा सामाजिक विज्ञान और अंतिम परीक्षा अंग्रेजी की आयोजित की जाएगी।

12 वीं के माइनर विषयों की परीक्षाएं 16 नवंबर से शुरू होने वाली हैं. जबकि सीबीएसई 10 वीं टर्म-1 माइनर विषयों की परीक्षाएं 17 नवंबर से शुरू होंगी। वहीं 10 वीं के मेजर विषयों के पेपर 30 नवंबर से शुरू होने वाले हैं और 11 दिसंबर तक चलेंगे। 12वीं क्लास के मेजर विषयों की परीक्षा 01 दिसंबर से शुरू होंगी और 22 दिसंबर 2021 तक चलेंगी।

12वीं कक्षा के छात्रों के लिए 3 दिसंबर को इंग्लिश की परीक्षा है। 6 दिसंबर को गणित, 7 को फिजिकल एजुकेशन, 8 को बिजनेस स्टडी, 9 को ज्योग्राफी, 10 को फिजिक्स, 11 को साइकोलॉजी, 13 को अकाउंटेंसी, 14 को केमिस्ट्री, 15 को इकोनोमिक्स और 16 को हिंदी की परीक्षा ली जाएगी। 17 दिसंबर को राजनीतिक विज्ञान, 18 को बायोलॉजी, 20 दिसंबर को इतिहास, 21 दिसंबर को कंप्यूटर साइंस और 22 दिसंबर को आखिरी परीक्षा होम साइंस की ली जाएगी।

दसवीं कक्षा की मुख्य विषयों की परीक्षा का भी शेड्यूल जारी किया गया है। सीबीएसई द्वारा जारी किए गए शेड्यूल के मुताबिक 30 नवंबर सुबह 11 बजकर 30 मिनट से दोपहर 1 बजे तक सोशल साइंस की परीक्षा ली जाएगी। 2 दिसंबर को विज्ञान, 3 को गृह विज्ञान, 4 को गणित, 8 दिसंबर को कंप्यूटर एप्लीकेशन, 9 को हिंदी और 11 दिसंबर को इंग्लिश की परीक्षा आयोजित की जाएगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 14 Nov 2021, 12:55:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.