News Nation Logo

'वंदे भारत' मिशन के जरिए 6.7 करोड़ भारतीय वापस लाए गए

भारत ने अपने फंसे हुए नागरिकों को विदेश से वापस लाने के लिए 7 मई 2020 से दुनिया का सबसे बड़ा अभियान शुरू किया था. इस योजना के तहत 1.9 लाख से ज्यादा भारतीय नागरिकों को वापस लाने की योजना बनाई गई थी.

By : Shailendra Kumar | Updated on: 21 Mar 2021, 03:59:50 PM
Union Minister for Housing

'वंदे भारत' मिशन के जरिए 6.7 करोड़ भारतीय वापस लाए गए (Photo Credit: IANS)

highlights

  • 'वंदे भारत मिशन' के जरिए 6.7 करोड़ भारतीयों को वापस लाया गया है
  • 7 मई 2020 से दुनिया का सबसे बड़ा अभियान शुरू किया था
  • 1.9 लाख से ज्यादा भारतीय नागरिकों को वापस लाने की योजना बनाई गई थी

नई दिल्ली :

कोविड-19 महामारी ( Covid-19 Pandemic ) के चलते विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों की देश वापसी के लिए चलाए गए 'वंदे भारत मिशन' ( vande bharat mission ) के जरिए 6.7 करोड़ भारतीयों को वापस लाया गया है. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ( Civil Aviation Minister Hardeep Singh Puri ) ने ट्वीट कर कहा, "यह सिर्फ दुनिया भर में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने का मिशन नहीं है, बल्कि यह मिशन आशाओं और खुशी का मिशन रहा, जिसने लोगों को बताया कि इस संकट के समय में भी वे अकेले नहीं है. 6.75 करोड़ लोगों की वापसी के बाद भी यह जारी है..".

यह भी पढ़ें : नई खोज : आईआईटी प्रोफेसर ने किया रोग में लिपिड्स की भूमिका पर अध्ययन

भारत ने अपने फंसे हुए नागरिकों को विदेश से वापस लाने के लिए 7 मई 2020 से दुनिया का सबसे बड़ा अभियान शुरू किया था. इस योजना के तहत 1.9 लाख से ज्यादा भारतीय नागरिकों को वापस लाने की योजना बनाई गई थी.

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी वर्षा जल संचयन अभियान का सोमवार को करेंगे शुभारंभ

इस मिशन में पहले एयर इंडिया और उसकी सब्सिडियरी एयर इंडिया एक्सप्रेस ने अहम भूमिका निभाई. बाद में अन्य एयरलाइन कंपनियां भी इसमें शामिल हुईं. भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए हवाई मार्ग के साथ-साथ नौसेना के जहाजों का भी उपयोग किया गया था.

यह भी पढ़ें : नई खोज : आईआईटी प्रोफेसर ने किया रोग में लिपिड्स की भूमिका पर अध्ययन

बता दें कि साल 2020 में  7 मई से ये काम शुरु हो चुका था. इस कड़ी में नौसेना का एक जहाज़ मालदीव से 700 से ज़्यादा नागरिकों को वापस लाने का मिशन शुरू कर चुका है. इसके लिए विदेशों में फंसे लोगों को वहां मौजूद भारतीय दूतावास में अपना पंजीकरण कराना था. इसमें गर्भवती महिलाओं, छात्रों, वीज़ा अवधि समाप्त हो चुके लोगों और मेडिकल इमर्जेंसी वाले मामलों को प्राथमिकता के साथ वापस लाया गया है.

 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 21 Mar 2021, 03:59:39 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.