News Nation Logo

नोटबंदी के 50 दिन: कैश की कमी से ज्यादा आरबीआई के नियमों ने किया परेशान

500 और 1000 रुपये के नोटों के इस्तेमाल पर लगे बैन के मामले में सबसे ज्यादा मुश्किल आरबीआई के नियमों को लेकर हुई।

अदिति सिंह | Edited By : Aditi Singh | Updated on: 28 Dec 2016, 02:57:17 PM
फाइल फोटो

highlights

  • नोटबंदी के 50 दिन पूरे, आरबीआई नियमों का बदलने से जनता रही परेशान
  • 30 दिसंबर तक ही बैंकों में जमा होंगे पुराने नोट 

 

नई दिल्ली:  

500 और 1000 रुपये के नोटों के इस्तेमाल पर लगे बैन के मामले में सबसे ज्यादा मुश्किल आरबीआई के नियमों को लेकर हुई। नोटबंदी के 50 दिन के बीच आरबीआई ने नियमों में एक के बाद एक कई बदलाव किए।

8 नंवबर
*1.8 नंवबर की रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये को नोटों के इस्तेमाल को मध्यरात्रि से अवैध घोषित कर दिया था। इसके बाद से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने इस संबंध में पहला नोटिफिकेशन जारी किया।
*आरबीआई ने बैंको के काउंटर पर रोजाना 4000 रुपये एक्सचेंज करने के साथ 10,000 तक निकालने की सीमा तय की। हफ्ते में बैंकों से अधिकतम 20,000 रुपये निकाले जा सकते थे। इसके अलावा एटीएम से रोजाना 2,000 रुपये निकालने की सीमा तय की गई। जो 19 नवंबर से बढ़ाकर 4000 रुपये कर दी गई।
*आरबीआई ने अपनी वेबसाइट पर जनता से शांत रहने और परेशान ना होते हुए 30 दिसंबर तक पुराने नोटों को बदलने की अपील की।
9 नवंबर
*आरबीआई ने बैंको को एटीएम में 100 रुपये के नोट पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराने को कहा।
*आरबीआई ने शनिवार,12 नवंबर और रविवार, 13 नवंबर को बैंको को सामान्य वर्किग डे के रूप में खुले रहने के आदेश दिए।
10 नवंबर
*अगले 72 घंटों तक अस्पतालों, रेलवे के टिकट बुकिंग काउंटर, सरकारी बसों के टिकट बुकिंग काउंटर और हवाई अड्डों पर टिकट खरीदने के लिए पुराने नोटों के इस्तेमाल में छूट दी गई।
13 नवंबर
*आरबीआई ने एक हफ्ते में कैश निकालने की सीमा 20,000 रुपये से बढ़ाकर 24000 रुपये कर दी।
*एक दिन में 10,000 रुपये की निकालने की सुविधा को खत्म किया।
*पुराने नोटों को बदलवाने की सीमा 4000 रुपये से बढ़ाकर 4500 रुपये कर दी गई ।
*4-30 दिसंबर तक सेविंग एकाउंट से लेने देन पर एटीएम फीस खत्म किए जाने का ऐलान किया गया।
*सरकार ने रिकैलिबिरेटिड एटीएम से प्रति दिन की निकासी सीमा 2000 रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपये कर दी।

इसे भी पढ़े: देश के विदेशी पूंजी भंडार में गिरावट, रिजर्व बैंक की रिपोर्ट

14 नवंबर
*पेट्रोल पंपों पर पुराने नोट स्वीकार किए जाने की लिमिट बढ़ाई गई।

15 नवंबर
*सरकार ने कहा कि बैंक सुनिश्चित करें कि जो भी लोग अपने पुराने नोट बदलवाने आएंगे उनके हाथ की उंगली पर न मिटने वाली स्याही लगाई जाएगी। हालांकि इस नियम को लागू नहीं किया जा सका। सरकार के इस फैसले पर चुनाव आयोग ने भी आपत्ति जताई थी।

17 नवंबर
*किसानों को छूट दी गई कि वो कृषि ऋण के तौर पर प्रति सप्ताह 25,000 रुपये की निकासी कर सकते हैं।
*कृषि लोन की एवज में हर हफ्ता किसान 25000 रुपये की निकासी कर सकते हैं
*इसके अलावा किसानों के लिए उनके कृषि ऋण के प्रीमियम के भुगतान की अवधि 14 दिन तक के लिए बढ़ा दी गई।

18 नवंबर
*आरबीआई स्वाइपिंग मशीनों से प्रति दिन 2000 रुपये तक की निकासी की सीमा तय की।

21 नवंबर
*बड़ी छूट देते हुए सरकार ने शादी के लिए एक खाते से ढ़ाई लाख रुपये तक की निकासी सीमा तय की।
*किसानों के लिए लोन व जमा खातों में से 25 हजार रुपये प्रति सप्ताह की निकासी के लिए मंजूरी दी।
*सरकार ने किसानों को छूट दी कि वो राज्य सरकारों की ओर से संचालित आउटलेट से बीजों की खरीद पुराने नोट से कर सकते हैं।

22 नवंबर
*आरबीआई ने प्रीपेड वॉलेट व कार्ड्स के लिए 30 दिसंबर तक 20,000 रुपये का बैलेंस रखने की सीमा घटाकर 10,000 रुपये कर दी।
*30 दिसंबर तक मर्चेंट्स पीपीआई से बैंको में 50,000 रुपये तक ट्रांसफर कर सकते हैं।
*30 दिसंबर तक पीपीआई के माध्यम से मासिक ट्रांजेक्शन 10,000 से बढ़ाकर 20,000 रुपये किया गया।

23 नवंबर
*सरकार ने कहा कि वो किसानों को कृषि ऋण के तौर पर 21000 करोड़ रुपये देगी।

24 नवंबर
*सरकार ने पुराने नोट बदलवाने की सीमा खत्म की।

इसे भी पढ़े: फ्लॉप हुई नोटबंदी! 90 फीसदी पुराने नोट बैंकों में जमा

25 नवंबर
*आरबीआई ने कहा कि पुराने नोट आरबीआई की शाखाओं पर ही बदलवाए जा सकते हैं।
*वहीं विदेशी पर्यटक 15 दिसंबर तक हर हफ्ते 5000 रुपये तक की करेंसी बदलवा सकते हैं।
26 नवंबर
*आरबीआई की ओर से जारी सर्कुलर के तहत बैंकों को 16 सितंबर से 11 नवंबर के बीच जमा हुई राशि के बराबर रकम रिजर्व रखना होगा। मसलन, बैंकों को इन्क्री मेंटल आधार पर 100 फीसदी कैश रिजर्व रखना होगा।
28 नवंबर
*सरकार ने अघोषित नकदी के लिए एक कर माफी योजना की घोषणा की, जिसमे व्यक्ति अघोषित आय पर कर और सरचार्ज के रुप में 50 फीसदी टैक्स देकर बच सकता है।
आरबीआई ने लोगों को अनुमति दी कि वो नए नोटों में एक हफ्ते के भीतर 24,000 रुपये तक की निकासी कर सकते हैं।
*जो लोग अपने बैंक खातों से चेक के माध्यम से या फिर एटीएम से पैसे निकालेंगे उन्हें 2000 रुपये और 500 के नए नोट मिलेंगे।
30 नवंबर
*भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को अनुमति दी कि वो नकद आरक्षित अनुपात आवश्यकता को पूरा करने के पूरी नकदी का उपयोग कर सकते हैं।
*गरीबों के लिए खोले गए जन-धन खातों में जमा-राशि में से मासिक निकासी के नियम भी केंद्रीय बैंक ने सख्त किए।

1 दिसंबर
*सरकार ने ऐलान किया कि पेट्रोल पंप और हवाई यात्रा के लिए टिकट काउंटर पर 500 रुपये के पुराने नोट नहीं चलेंगे।

2 दिसंबर
*अतिरिक्त लिक्विडिटी को मैनेज करने के लिए सरकार ने मार्केट स्टेबिलाइजेशन बॉन्ड की लिमिट 6 लाख करोड़ तक बढ़ा दी।

7 दिसंबर
*आरबीआई ने एक अस्थाई आदेश जारी करते हुए बैंकों को सीआरआर रखने की शर्त में छूट दी ताकि बाजार में नकदी का प्रवाह बढ़ सके।

इसे भी पढ़ें: पुराने नोटों को बैंक में जमा करने पर 30 दिसंबर के बाद लगेगा जुर्माना, अध्यादेश को कैबिनेट ने दी मंजूरी

8 दिसंबर
*केंद्र सरकार ने कैशलैस लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए डिजिटल पेमेंट करने पर कई ईनाम देने की घोषणा की।
*इसके बाद आरबीआई ने कहा कि 5000 से अधिक राशि जमा करने पर दो बैंक अधिकारी उपभोक्ता से पूछताछ करेंगे। जवाब से संतुष्ट करना होगा, देरी का कारण बताना होगा। *जबकि इसके पहले 30 दिसंबर तक कितनी भी राशि जमा करने का आदेश था। हालांकि21 दिसंबर को इस फैसले को वापस ले लिया गया। 

First Published : 28 Dec 2016, 12:27:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.